ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
युवक को गोली मारकर नदी में फेंका शव, तीन दिन बाद बरामद हुआ शव
September 11, 2020 • अमित राय • लखनऊ

8 सितम्बर से था युवक लापता, परिजनों ने की शव की शिनाख्त

पुलिस युवक के साथियों से कर रही है पूछताछ



जनसंदेश न्यूज
लालगंज/आजमगढ़। देवगांव कोतवाली क्षेत्र के अहिरौली खिजीरपुर से गत 8 सितंबर से लापता 18 वर्षीय युवक सागर पुत्र रामलाल का शव गुरुवार की रात 9.30 बजे के करीब मेहनाजपुर थाना क्षेत्र के परसौना गांव में गांगी नदी से क्षत-विक्षत हालत में बरामद किया गया। परिजनों ने वहां पहुंचकर शव की सागर राजभर के रूप में पहचान की। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

इससे पूर्व उसकी हत्या के निशान गांव के उत्तर पोखरे के पास से मिल रहे थे जहां चप्पल और खून के निशान मिलने पर डाग स्क्वायड भी बुलाया गया। लेकिन वह पोखरे के पास जाकर रुक गया था। इसी बीच पता चला कि परसोना नदी में कोई शव देखा गया है। परिजन सूचना पाकर जब वहां पहुंचे तो क्षत-विक्षत हो गए शव की शिनाख्त सागर के रूप में की। जिसकी गोली मारकर हत्या करने के बाद शव को ठिकाने लगाने के लिए नदी में फेंका गया था। परिजनों ने रंजिश में हत्या का आरोप लगाया है। 

इस संबंध में मौखिक सूचना देवगांव कोतवाली में जाकर बबलू राजभर ने दी थी। बृहस्पतिवार को परिजन व ग्रामीण गांव की सिवान में खोजते ढूंढते सागर राजभर के घर से कुछ दूर एक सिवान में उसका चप्पल तथा खून का निशान मिला था। उस पर मिट्टी पड़ी थी। इसकी सूचना देवगांव कोतवाली को देने पर कोतवाली पुलिस मौके पर गई। डाग स्क्वायड की कुतिया भी बुलवाई गई। चप्पल व खून के निशान से करीब 300 मीटर दूर जाकर पोखरे के पास कुतिया वापस हो गई थी। सागर राजभर के साथ जो लड़के देखे गए थे पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है।