ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
विंध्यवासिनी दरबार के पंडे ने पुलिस को बुरी तरह पीटा, दो दरोगा सहित चार पुलिसकर्मी हुए घायल, एक गंभीर
August 6, 2020 • जनसंदेश न्यूज • पूूर्वांचल


जनसंदेश न्यूज़
मीरजापुर। लोगों की आस्था का प्रमुख केन्द्र मां विंध्यवासिनी दरबार में गाहे-बगाहे पंडों की अराजकता की खबर मिलती रहती है। वहां के पंडों की अराजकता के कारण कई स्थानीय नागरिक के साथ-साथ पुलिस व प्रशासन को भी नुकसान उठाना पड़ता है। ताजा मामला भी कुछ ऐसा ही है। जहां दो पंडों के बीच हुए विवाद के बाद आरोपी पंडे के यहां पूछताछ गई पुलिस पर उल्टे पंडे ने ही हमला कर दिया। जिसमें एक दारोगा  गंभीर रूप से घायल हो गया। वहीं साथ गए दो सिपाहियों को व मंदिर की सुरक्षा में तैनात एक और दारोगा को भी चोटें आई हैं। घायल को हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है।
पुलिस के मुताबिक मंदिर पर रात्रि आरती के दौरान स्थानीय पंडा अमित पांडेय ने मां का श्रृंगार व आरती करने वाले पुजारी विश्वनाथ से विवाद कर उनकी पिटाई कर दी। घटना की शिकायत जब पीड़ित विश्वनाथ ने विंध्याचल कोतवाली में की तो मौके पर जांच के लिए दरोगा रविकांत मिश्रा पुलिस कर्मियों के साथ पहुंचे। पुलिस को आता देख पंडा अमित ने खुद को विंध्यवासनी मंदिर के पास मौजूद अपने राधा-कृष्ण मंदिर में घुस कर अंदर से दरवाजा बंद कर लिया।
पुलिस उसे बाहर बुलाने का प्रयास कर रही थी, इस बीच वह अचानक दरवाजा खोल कर बाहर निकला और वहां मौजूद पुलिस वालो को डंडे से पीटने लगा। अचानक हुए इस हमले से वहां अफरातफरी मच गयी। पिटाई के कारण दरोगा रविकान्त मिश्रा के सिर में गंभीर चोट आयी। वह लहूलुहान होकर गिर पड़े। मंदिर सुरक्षा में तैनात दरोगा भगवान और पुलिस कर्मी दीपनारायण और संतोष को भी हमले के दौरान चोट आयी।