ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
वाह रे स्वास्थ्य विभाग...! थर्मल स्क्रैनर चलाने का हुनर तक नहींं मालूम!
July 12, 2020 • अजय सिंह उर्फ राजू • जौनपुर-गाजीपुर

19 आगनवाड़ी में एक हुई उपस्थित

दवा छिड़काव के बारे में  सीएमओ एवं  एडीओ के अलग जवाब 


जनसंदेश न्यूज 
दुल्लहपुर/गाजीपुर। प्रमुख सचिव पीडब्ल्यूडी समीर वर्मा क्षेत्र में संचारी रोगों व कोरोना महामारी की रोकथाम व जन जागरुकता फैलाने के लिए  विकास खंड जखनियां के जलालाबाद पहुंचे। इस दौरान लखनऊ से चलकर आये प्रमुख सचिव के सामने स्वास्थ्य विभाग की पोल खुल गई। दरअसल, बैठक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र धर्मागतपुर में होनी थी, लेकिन अस्पताल की बदहाली के चलते जलालाबाद स्थित माडल प्राथमिक विद्यालय में कराया गया। 
रविवार को सुबह साढे दस बजे पीडब्ल्यूडी सचिव समीर वर्मा के पहुंचने के तीन घंटा पहले ही स्थल पर अधिकारियों का जमावड़ा लग गया। बताया गया कि कोरोना व संचारी रोगों की रोकथाम एवं जनजागरुकता के लिए प्रमुख सचिव का आगमन हुआ है। कार्यक्रम के दौरान प्रमुख सचिव ने  एएनएम, आशा और आंगनबाड़ी से पूछताछ शुरू की तो स्वास्थ्य विभाग की कलई खुल गई। एक तक तरफ जहां कोरोना के साथ साथ संचारी रोगों से निपटने के लिए शासन-प्रशासन इतना सक्रिय है। 
वहीं रविवार सुबह ही दो थर्मल स्क्रीनिंग की मशीनें मुहैया कराई गई थी। इसके प्रयोग के बारे में जब सचिव ने आंगनबाड़ी व आशा पूछताछ शुरू की तो दोनों कुछ बता नहीं सकी। उन्होंने कहा कि रोगों की रोकथाम के लिए सभी विभागों को मिलकर अभियान चलाना होगा, तभी जाकर रोगों का सफाया हो सकेगा। 
वहीं एएनएम से मिजिल्स के टीकाकरण के बारे में पूछा गया तो नहीं बता  पायी ड्यूलिस्ट में कितने बच्चे हैं, यह भी जानकारी एएनएम नहीं दे पाई। क्षेत्र मे कार्ययरत 19 आंगनबाड़ी में से केवल एक ही आंगनबाड़ी मौके पर पहुंची थी। जब दवा छिड़काव के बारे में पूछा गया तो सीएमओ व एडीओ ने दो तरह का जबाब दिए। 
एडीओ ने बताया कि दवा दुकान से खरीदा जाता है। जबकि सीएमओ डा जीसी मौर्या ने बताया कि ब्लाक पर दवा भेजवाया जाता है। गांव में दवा छिड़काव के बारे में स्पष्ट जानकारी नही मिली। इन सब बातों पर प्रमुख सचिव चिढ गए। उन्होंने बताया कि हम एक सप्ताह में इसका फीडबैक  लेंगे। अधिकारियों को निर्देश दिया कि इस तरह के अभियान की दैनिक समीक्षा होनी चाहिए। दैनिक समीक्षा में सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के उपस्थित होना अनिवार्य है। 
सचिव ने बताया कि बुखार, किडनी और शुगर जैसी समस्या के रोगी को किसी भी रोग का इन्फेक्शन बहुत जल्दी होता है। इसके लिए घर-घर पता किया जा रहा है कि घर का कोई सदस्य इन सब रोगों से पीड़ित तो नहीं है। लेकिन इसके लिए जो सीट भरा जाता है वह आशा नहीं भर पा रही थी। कोरोना व संचारी रोगों की रोकथाम के लिए स्वास्थ विभाग तैयारी की पोल खुल गई जब उनके कर्मचारियों को बेसिक चीजों की जानकारी नहीं थी। कितने फारेनहाइट पर व्यक्ति को बुखार होता है और कितने पर नहीं यह भी जानकारी भी स्वास्थ्य विभाग के कार्यकर्ताओं को नहीं था। आधा घंटे के कार्यक्रम के बाद प्रमुख सचिव आजमगढ के लिए रवाना हो गए। 
बैठक के दौरान सीएमओ जीसी मौर्या डीपीआरओ अनिल कुमार सिंह एसडीएम सूरज कुमार यादव बीडीओ संदीप श्रीवास्तव तहसीलदार रामसुधार ग्राम प्रधान प्रतिनीधि संतोष गुप्ता सहित काफी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे ।