ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
उर्वरक की दुकानों पर अलग-अलग टीमों ने की छापेमारी, दुकान छोड़ भाग खड़े हुए दुकानदार, छह के लाइसेंस सस्पेंड
August 19, 2020 • सुरोजीत चैटर्जी • वाराणसी-चंदौली

कालाबाजारी रोकने को विभिन्न टीमों ने एक साथ बोला धावा


सुरोजीत चैटर्जी
वाराणसी। जनपद में बुधवार को उर्वरकों की दुकानों पर चलाये गए छापेमारी के अभियान के दौरान अनियमितता पाए जाने पर छह दुकानों के लाइसेंस निलंबित कर दिए गए। मुख्य विकास अधिकारी मधुसूदन हुलगी के निर्देश पर यह मुहिम चलायी गयी थी।
सीडीओ के निर्देश पर इस छापेमारी के लिए कई टीमों का गठन हुआ था। कार्रवाई कर अंतर्गत उर्वरक के जिन कारोबारियों के लाइसेंस सस्पेंड किये गए उनमें कालिका खाद बीज कृषि रक्षा केंद्र कपसेठी, न्यू श्याम बीज भंडार कपसेठी, चंदन बीज भंडार कपसेठी, जय किसान खाद भंडार कपसेठी, किसान बीज भंडार रमईपुर और पृथ्वीराज एंड संस पिंडरा शामिल थे।
जिला छापेमारी की रणनीति और टीमों का गठन बेहद खामोशी और गुपचुप ढंग से किया गया था। गोपनीयता इतनी रखी गयी थी कि विभाग के कर्मचारियों को भी मुहिम की भनक तक नहीं लगी। क्षेत्रों में एकसाथ पहुंची अलग-अलग टीमों को सामने देखने के बाद उर्वरक के दुकानदारों में हड़कम्प मच गया। कई कारोबारी अपनी दुकान बंद कर भाग खड़े हुए। कुछ दुकानदार पर्याप्त अभिलेख पेश नहीं कर सके। जिला कृषि अधिकारी सुभाष मौर्य ने इस छापेमारी की जानकारी दी। मुहिम में 41 दुकानों पर धावा बोला गया और नौ सैम्पल लिए गए।