ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
UPPCS 2018 Result : जिले से पति, पत्नी सहित एक युवक का हुआ चयन, बधाईयों का तांता 
September 11, 2020 • संजय दूबे • पूूर्वांचल



जनसंदेश न्यूज
मीरजापुर। पीसीएस 2018 में पति-पत्नी समेत एक युवक का चयन होने से खुशी का माहौल है। जिससे लोग एक दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी का इजहार कर रहे हैं। चंदईपुर के दलित बहु बेटे ने पीसीएस 2018 में परचम लहराया। जिससे जनपद का नाम रोशन हुआ है। 

बता दें कि ओमप्रकाश पासवान पिता लक्ष्मण प्रसाद पूर्व सींचपाल, माता गायत्री देवी,भाई जयप्रकाश ने बधाई दी है। जिनकी शिक्षा हाई स्कूल व इंटर गुरुनानक इंटर कालेज से, बीटेक नोयडा से, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, एमएससी मुम्बई से, एलएलबी वाराणसी से, पूर्व में रोबोटिक्स इंजिनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड फरीदाबाद में 6 वर्ष नौकरी करने के बाद 2012 से 2016 तक ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार में पीएमआरडीएफ पद पर सोनभद्र में काम किये।

वर्तमान में 2016 पीसीएस से बुलन्दशहर में नायब तहसीलदार के पद पर कार्यरत हैं। जिनका 2018 पीसीएस में जिला प्रोवेशन अधिकारी पद पर चयन हुआ है। उनकी पत्नी सुषमा , पीसीएस-2018 में कमर्शियल टैक्स आफीसर पर चयन की गई। जिन्होंने शिक्षा हाई स्कूल, इंटर लखनऊ व बीएससी एमएससी लखनऊ विश्विद्यालय से पास की। इनके पिता श्यामसुंदर पूर्व वरिष्ठ पीसीएस व दादा किशुन लाल जिला जज रहे हैं।

वहीं जनपद में तीसरे नंबर नंबर सुरजीत की पीसीएस परीक्षा में प्रथम प्रयास में ही सफल होने की खबर से खुशी का माहौल है। यह सुनकर जनपद में तमाम छात्र शिक्षक व युवा वर्ग उत्साहित हैं। सुरजीत कुमार मौर्य पुत्र स्वर्गीय बलराम मोर्य निवासी बिहसड़ा का मूल निवासी है। जिसके तीन भाई सुधीर सुनील मौर्य और रोहित मौर्य क्रमशरू राज्य भंडारण विभाग मिर्जापुर में सुपरवाइजर के पद पर, अधिवक्ता उच्च न्यायालय इलाहाबाद व सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग माइक्रोसॉफ्ट हैदराबाद में अपनी अपनी सेवाएं दे रहे हैं। जबकि पिता स्वर्गीय बलराम मौर्या रेलवे में अपनी सेवा दे चुके थे। 

सुरजीत कुमार मौर्य ने 2004 में हाईस्कूल महाशक्ति इंटर कॉलेज बिहसड़ा से व 2006 में इंटर एंग्लो बंगाली इंटर कॉलेज प्रयागराज से, 2013 में बी फार्मा रुहेलखंड विश्वविद्यालय बरेली से, 2015 में एम फार्मा मोहाली चंडीगढ़ से किया। कुछ दिन रिसर्च एग्जीक्यूटिव के पद पर प्राइवेट नौकरी की। वहीं 2018 पीसीएस में चयन होने पर पूरा जनपद गर्वांवित महसूस कर रहे हैं।