ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
तूल पकड़ने लगा है बहुअरा गांव में बेदखली का मामला, ग्रामीणों में आक्रोश, सपा जिलाध्यक्ष बोले, भाजपा जिलाध्यक्ष के इशारे पर....
August 21, 2020 • शशिकांत चौबे • पूूर्वांचल

भाजपा एलएलसी के इशारे पर गरीबों को उजाड़ने की हो रही कोशिश-विजय

सपा प्रतिनिधिमंडल ने प्रभावित परिवारों से मुलाकात कर उनके हक के लिए संघर्ष करने का दिया भरोसा 

जनसंदेश न्यूज 
सोनभद्र। सदर कोतवाली क्षेत्र के बहुअरा गांव में बेदखली का मामला तूल पकड़ने लगा है। समाजवादी पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल जिलाध्यक्ष विजय यादव के नेतृत्व में शुक्रवार को बहुआरा गांव का दौरा कर प्रभावित परिवारों को उनके हक के लिए संघर्ष करने का भरोसा दिया। 

सपा जिलाध्यक्ष विजय यादव ने आरोप लगाया कि भाजपा के एमएलसी केदारनाथ सिंह के इशारे पर बाप-दादे के सयय से बसे गरीबों को सिंचाई विभाग उजाड़ने में लगा हुआ है, जो सरासर गलत है। कहा कि एमएलसी ने गहुअरा गांव में अपनी परिजनों के नाम से जमीन खरीदा है। उन्होंने अपनी निधि का पैसा गांव के विकास पर खर्च न कर अपनी निजी जमीन पर बिजली, हैंडपंप, सड़क पर खर्च किया गया है, इसकी भी जांच होनी चाहिए। उनका इससे मन नहीं भरा तो वे पुस्तों से अपना घर बना आबाद 64 गरीब परिवारों को उजाड़ने की कोशिश में लग गए। 

कहा कि इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। शासन के निर्देश पर सिंचाई विभाग पांच दर्जन से अधिक परिवारों बेदखली का नोटिस थमा दिया। बदेखली की जद में आए लोगों का कहना था कि वे सैकड़ों वर्षो से उक्त भूमि पर अपना घर बनाकर रह रहे हैं। इससे पहले उन्हें किसी ने उक्त भूमि को सिंचाई विभाग का नहीं बताया। अचानक घर खाली करने की नोटिस थमा दी गई। जबकि उस जमीन पर गरीबों को लगभग 20 से 25 प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास बना हुआ है और 50 से 70 लोगों को ग्राम पंचायत से शौचालय बनाया गया है। इसमें लगभग 65 परिवार जिनकी संख्या लगभग 400 लोग निवास करते हैं। 

सपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि अगर सरकारी जमीन थी तो कैसे इस पर सरकारी आवास, शौचालय, सड़क, बिजली, सीसी रोड का कार्य किया गया, इसकी भी जांच होनी चाहिए। इस मौके पर जिला महासचिव मो. सईद कुरैशी, पूर्व जिपं अध्यक्ष अनिल यादव, अनिल प्रधान, हिमांशु यादव, राजेश यादव, जितेंद्र यादव, अमरजीत यादव, सुरेश कुशवाहा, रामवृक्ष यादव, सतीश यादव, रामवृक्ष, सलीम, चंद्रभान देवनाथ, मजीद आदि लोग मौजूद रहे।