ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
तिमनासा और बालवीर का होगा आमना-सामना, शक्ति के अंतिम स्रोत को पाने की होड़
August 12, 2020 • डॉ. दिलीप सिंह • मनोरंजन/लाइफस्टाइल


जनसंदेश न्यूज़
इंदौर। शक्ति के अंतिम स्रोत तक पहुँचने की होड़ में विवान (वंश सयानी) और तिमनासा (पवित्रा पुनिया) का आमना-सामना होता है। तिमनासा के विरूद्ध अंतिम शक्ति का पाने का क्षण आ चुका है। विवान ऊर्फ बालवीर, नकाबपोश (देव जोशी) और अनन्या (अनाहिता भूषण) को उस एकमात्र शक्ति स्रोत के स्थान का पता चल चुका है, जो तिमनासा को हरा सकती है, लेकिन उनकी यात्रा इतनी सरल नहीं होगी। सोनी सब के बालवीर रिटर्न्स में पूरे सप्ताह चौंकाने वाले मोड़ के साथ रोमांचक एपिसोड आएंगे, क्योंकि टीम शैडो ने ऐसी यात्रा आरंभ की है, जो उन्हें भयरानी तिमनासा को हराने के एक कदम करीब ला सकती है। 
अपनी असली पहचान को समझने और अपने मन के अंतर्द्वंदों से लड़ने के बाद विवान यह स्वीकार कर लेता है कि उसे तिमनासा को मारने के लिये चुना गया है। शौर्या विवान से कहता है कि सर्वकाल अपना आकार बदल रहा है और जल्दी ही उसका कायापलट होगा। सर्वकाल के पूरी तरह बदलने से पहले विवान के पास यह ऊर्जा होनी चाहिये, ताकि वह तिमनासा से लड़कर उसे हरा सके। यात्रा शुरू होती है और जब विवान, नकाबपोश और अनन्या सर्वकाल के स्थान तक पहुँचने को होते हैं, तब वह बदल जाता है और पूरी जगह एक खतरनाक भूलभुलैया बन जाती है और तीन दरवाजों के रूप में हर स्तर पर एक चुनौती देती है। अब इन तीनों को ऊर्जा लेने के लिये वे तीन दरवाजे पार करने हैं। स्थिति हिंसक हो जाती है, जब तिमनासा को इसका पता चलता है और वह अंतिम दरवाजे तक पहुँचने के लिये उनसे लड़ती है। 
टीम शैडो अब तक की सबसे चुनौतीपूर्ण लड़ाइयों के लिये तैयार है, जिनमें उन्हें अपने प्रियजनों की सुरक्षा या तिमनासा को मार सकने वाली एकमात्र शक्ति में से एक को चुनना होगा, जो दुनिया को उसके खतरे से बचा सकती है। हर दरवाजे के पीछे क्या है? क्या विवान सही समय पर अंतिम तीसरे दरवाजे तक पहुँचेगा?


विवान की भूमिका निभा रहे वंश सयानी ने कहा, विवान के सामने ऐसी चुनौतियाँ होंगी, जो उसकी भावनात्मक, मानसिक और शारीरिक परीक्षा लेंगी। तिमनासा को हराना आसान नहीं है और यह अंतिम भूलभुलैया इस आखिरी लड़ाई के स्तर को ऊँचा करने के लिये तैयार है। हर चरण में विवान को तेजी से सोचना होगा, क्योंकि समय बीत रहा है और वह लड़ाई हार नहीं सकता। देखते रहिये और विवान के आखिरी मिशन के लिये उसे शुभकामनाएं दीजिये। तिमनासा की भूमिका निभा रहीं पवित्रा पुनिया ने कहा, तिमनासा को पता चल चुका है कि उसे हरा सकने वाला एकमात्र हथियार टीम शैडो को मिल गया है। विवान और उसकी टीम को उस तक पहुँचने से रोकने के लिये वह अपनी पूरी ताकत लगाएगी। आने वाले एपिसोड्स में तीन भयानक दरवाजे होंगे, जिन्हें तिमनासा और भयंकर बना देगी और दुनिया का अस्तित्व खतरे में पड़ जाएगा। लड़ाई शुरू हो चुकी है और तिमनासा अपने सबसे भयावह रूप में होगी। तो देखते रहिये और तिमनासा द्वारा बनाए गए अनापेक्षित मोड़ वाले सबसे रोमांचक सप्ताह के साक्षी बनिये।