ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश कोविड-19/देश-विदेश मनोरंजन/लाइफस्टाइल
शिकायत के बाद गांव में पहुंची जांच टीम को मिली खामियां ही खामियां, प्रधान और सचिव ने 43.92 लाख दिखाया खर्च
August 19, 2020 • अजय सिंह उर्फ राजू • इलाहाबाद

गांव में 366 शौचालयों के सापेक्ष दिखाया 43.92 लाख का खर्च

शौचालय निर्माण सहित विकास कार्यो में मिली खामियां

लाखो रुपए धन आहरण में नहीं लिया वित्तीय स्वीकृत

डीपीआरओ ने सचिव को लगाई फटकार

जनसंदेश न्यूज 
मरदह/गाजीपुर विकास खंड स्थित सिंगेरा गांव में शिकायत के बाद जिलाधिकारी के आदेश पर पहुंची जांच टीम को विकास कार्यो में भारी अनियमितता मिली है। डीपीआरओ अनिल कुमार सिंह ने ग्राम पंचायत सचिव को विकास कार्यो के लाखांे रुपए धन आहरण में कार्य वित्तीय स्वीकृत नही लिए जाने पर कड़ी फटकार लगाई। जांच अधिकारियों ने पूरे गांव में विकास कार्यो को लेकर स्थलीय निरीक्षण किया।  

गौरतलब है कि, सिंगेरा गांव निवासी सेवानिवृत्त अध्यापक रामबली सिंह ने ग्राम प्रधान की जांच हेतु जिलाधिकारी को पत्र दिया था। मंगलवार को जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य के निर्देश पर जिला पंचायत राज अधिकारी अनिल कुमार सिंह ने ग्राम पंचायत में शिकायतकर्ता के आधार पर विकास मद में आए सभी सरकारी धन की बंदरबाट और कागजो में निर्माण कार्य  को लेकर  जांच किए। 

जांच में पाया कि, ग्राम पंचायत सचिव द्वारा अब तक कराए गए विकास कार्यो के लाखो रुपये धन आहरण की एक भी कार्य वित्तीय स्वीकृत नही ली गई है। सचिव की इतनी बड़ी लापरवाही को लेकर डीपीआरओ ने कड़ी फटकार लगाई। डीपीआरओ अनिल सिंह ने बताया कि जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा बख्सा नही जाएगा। 

डीपीआरओ के साथ जांच टीम ने ग्राम सभा में सरकारी धन से निर्मित नाली, चकरोड, खड़ंजा, शौचालय की देर शाम तक निरीक्षण करती रही। जांच के क्रम में जहां अधिकाशतः कार्य मानक के अनुरूप मिले वही शौचालय निर्माण में धांधली मिली। ग्राम प्रधान एवं सचिव ने कुल 366 शौचालयों का निर्माण कार्य होना दिखाकर इस मद में कुल 43 लाख 92 हजार रुपये खर्च किया था।

जांच टीम के साथ सैकड़ो की संख्या में ग्रामीणों की भीड़ मौके पर डटी रही। बुधवार को भी जांच टीम द्वारा घर -घर जाकर जांच एवं सत्यापन का कार्य जारी था। जांच के दौरान पूरे गांव सहित क्षेत्र में हड़कम्प मचा रहा। इस सबंध में ग्राम प्रधान सुखिया देवी ने अपने उपर लग रहे आरोपों को खारिज करते हुए चुनावी रंजिश करार दिया ।