ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
शहीद पुलिसकर्मियों को 1-1 करोड़ का मुआवजा, सीएम बोले, गांव में तैनात शीर्ष अधिकारी पकड़ने या एनकांउटर के बाद ही लौटेंगे वापस!
July 3, 2020 • जनसंदेश न्यूज • देश-विदेश

विकास दुबे को पकड़ने या एनकांउटर में धरासाई करने के बाद ही लौटेंगे के शीर्ष अधिकारी


जनसंदेश न्यूज़
लखनऊ। यूपी के कानपुर देहात में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के गांव में दबिश के दौरान शहीद हुए आठ पुलिसकर्मियों के परिजनों को एक-एक करोड़ का मुआवजा दिया जायेगा। सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार की शाम करीब चार बजे पुलिस लाइन पहुंचकर पुष्पचक्र अर्पित करके श्रद्धांजलि दी और उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। मुख्यमंत्री ने कहा है कि शहीद सभी आठ पुलिस जवान के परिवारों को एक-एक करोड़ रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी। इसके साथ ही परिवार के एक सदस्य को शासकीय सेवा और आश्रित को असाधारण पेंशन दिया जायेगा। 
सीएम योगी कानुपर देहात के चौबेपुर बिकरी गांव में हुए मुठभेड़ में शहीद हुए जवानों को श्रध्दाजंलि अर्पित की। इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने कानपुर के प्राइवेट हॉस्पिटल में इलाज करा रहे घायल पुलिसकर्मियों से भेंट की। इस दौरान उनके साथ डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भी थे। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी के साथ ही शीर्ष पुलिस अधिकारियों को तैनात कर दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने साफ कहा है कि अब यह अधिकारी तभी कानपुर से वापस जाएंगे जब तक यह टीम विकास दुबे को पकड़ नहीं लेती या फिर मुठभेड़ में धराशाई नहीं कर देती है। 
आपकों बता दें कि चौबेपुर के बिकरू गांव में हिस्ट्रीशीटर बदमाश विकास दुबे को गुरुवार की आधी रात पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला कर दिया गया। घरों की छत से ताबड़तोड़ हुई फायरिंग में सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्रा समेत तीन सब इंस्पेक्टर और चार सिपाही शहीद हो गए। हमले में सात पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, जिन्हें कानपुर नगर के रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।