ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
शाहनवाज आलम के गिरफ्तारी का विरोध करने जा रहे कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सहित दर्जनों कार्यकर्ता हुए गिरफ्तार, रिहा
June 30, 2020 • जनसंदेश न्यूज • देश-विदेश


जनसंदेश न्यूज़
लखनऊ। यूपी कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज आलम की गिरफ्तारी का विरोध करने जा रहे कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सहित दर्जनों कांग्रेस कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया। यूपी कांग्रेस ने इस कार्रवाई को गैरकानूनी और अति निंदनीय बताया है। हालांकि शाम चार बजे सभी को पुलिस ने रिहा कर दिया।  
इस संबंध में प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि पूरे प्रदेश में भाजपा सरकार दमन का चक्र चला रही है। आये दिन पुलिस के दम पर लोकतंत्र को कुचला जा रहा है। अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज़ आलम की देर रात गिरफ़्तारी अवैध, अलोकतांत्रिक और निंदनीय है। कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता जनता के मुद्दों पर आवाज उठाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। भाजपा सरकार यूपी पुलिस को दमन का औज़ार बनाकर दूसरी पार्टियों को आवाज उठाने से रोक सकती है, हमारी पार्टी को नहीं। यह पुलिसिया कार्रवाई दमनकारी और अलोकतांत्रिक है।


कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा मोना ने इस पुलिसिया राज की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि यह योगी आदित्यनाथ की सरकार का राजनीतिक द्वेषपूर्ण और कायरता भरा कदम है।  सरकार विपक्ष की आवाज़ की दबाना चाहती । कांग्रेस के बढ़ते प्रभाव से योगी सरकार की बौखलाहट साफ साफ दिख रही है।
यूपी कांग्रेस का आरोप है कि कल रात हजरतगंज कोतवाली पहुंचे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज किया। जिसमें महासचिव मनोज यादव, अभिमन्यु सिंह, शिवम तिवारी, तारिक, राजेश सिंह काली समेत दर्जनों कार्यकर्ता जख्मी हुए। कांग्रेस पार्टी इस बर्बर दमन का निंदा करती है।


प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और आराधना मिश्रा मोना के साथ प्रदेश उपाध्यक्ष वीरेंद्र चौधरी, पूर्व विधायक रामसिंह, प्रशासन प्रभारी दिनेश सिंह, महासचिव विश्वविजय सिंह, मनोज यादव, लखनऊ प्रभारी सचिव रमेश शुक्ला, शहर अध्यक्ष मुकेश चौहान समेत सैकड़ों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। जिन्हें देर शाम चार बजे रिहा कर दिया गया।