ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं में क्या स्वाति का विश्वास देगा देवी पॉलोमी के दुष्ट इरादों को मात?
August 18, 2020 • डॉ. दिलीप सिंह • मनोरंजन/लाइफस्टाइल



जनसंदेश न्यूज़
इंदौर। शो के हालिया एपिसोड्स में, दर्शकों ने देखा कि देवी पॉलोमी (सारा खान) की कुटिल चालों के कारण स्वाति (तन्वी डोगरा) को उसकी शादी-शुदा जिंदगी में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। देवी पॉलोमी ने इंद्रेश (आशीष कादियान) से तलाक के कागजात साइन करवा लिये हैं और इंद्रेश चाहता है कि अब स्वाति भी उन पर साइन कर दे। डॉ निधि (धरती भट्ट) और पूरा सिंह परिवार इंद्रेश के इस फैसले से बेहद खुश है। अपनी शादी बचाने की स्वाति की सारी कोशिशें बेकार साबित हो रही हैं, लेकिन उसे अभी विश्वास है कि वह फिर से इंद्रेश का दिल जीत लेगी। 

इंद्रेश का परिवार स्वाति पर तलाक के कागजों को साइन करने का दबाव बना रहा है और इसलिये सभी ने उससे नाता तोड़ते हुये घर की किसी भी चीज का इस्तेमाल करने पर उस पर पाबंदी लगा दी है। जिसके बाद अपना जीवन यापन करने और इंद्रेश के करीब रहने के लिये स्वाति उससे जरूरी सामान खरीदने के लिये पैसे मांगती है, लेकिन इंद्रेश इनकार कर देता है। 
इसके विरोध में स्वाति उस घर के अन्न और जल का त्याग कर देती है। देव लोग में देवी पॉलोमी स्वाति की यह हालत देखकर बेहद खुश हो रही हैं। क्या अपनी शादीशुदा जिंदगी में इंद्रेश को वापस लाने की स्वाति की कोशिशें सफल हो पायेंगी? क्या देवी पॉलोमी इंद्रेश और स्वाति की शादी तोड़ने में कामयाब होंगी? क्या प्यार, ईर्ष्या से जीत पायेगा? 

 इस तनावपूर्ण ड्रामा के बारे में बताते हुये तन्वी डोगरा, जोकि स्वाति का किरदार निभा रही हैं, ने कहा,  डॉ. निधि की एंट्री के साथ, स्वाति और इंद्रेश को उनकी शादीशुदा जिंदगी में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इंद्रेश, स्वाति के बारे में सबकुछ भूल चुका है और उससे छुटकारा पाना चाहता है। इसलिये, उसने तलाक के कागजात साइन कर दिये हैं और अब स्वाति को इन कागजों पर साइन करने के लिये मजबूर कर रहा है। 

स्वाति को अपनी शादी पर भरोसा है और संतोषी मां पर अटल विश्वास है। अपने इसी विश्वास के साथ स्वाति खुद पर हो रहे जुल्मों के खिलाफ लड़ने और इंद्रेश को अपनी जिंदगी में वापस लाने के लिये तैयार है। एक ओर वह इंद्रेश और उसके परिवार के खिलाफ उठ खड़ी हुई है और वहीं दूसरी ओर देवी पॉलोमी हर गुजरते दिन के साथ स्वाति की जिंदगी को और भी बदहाल बना रही हैं। इस स्थिति में, क्या संतोषी मां (ग्रेसी सिंह), स्वाति की मदद करेंगी? क्या स्वाति का उसकी शादी पर से भरोसा उठ जायेगा? क्या इंद्रेश उसके पास वापस लौट कर आयेगा? एण्डटीवी के संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं के आगामी एपिसोड में दर्शकों को इन सवालों के जवाब मिलेंगे।