ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश कोविड-19/देश-विदेश मनोरंजन/लाइफस्टाइल
री मेडिकल में पास कराने वाला फर्जी सिपाही गिरफ्तार, 1.5 लाख में सौदा, 50 हजार एडवांस
September 13, 2020 • रवि प्रकाश सिंह/डाॅ. आनंद मिश्रा • वाराणसी-चंदौली


रवि प्रकाश सिंह/आनंद मिश्रा
वाराणसी। खुद को सिपाही बता कर सिपाही भर्ती के री-मेडिकल में पास कराने का आश्वासन देने वाला रविवार को कैंट पुलिस के हत्थे चढ़ गया। सिपाही ने अभ्यर्थी को पुलिस लाइन के समीप बुलाकर एक लाख रुपये में सौदा तय किया। 55 हजार एडवांस देने के बावजूद काम न कराने की जानकारी होने पर पीड़ित ने जालसाज को पकड़कर पुलिस को सौप दिया। कैन्ट पुलिस ने वादी जाकिर हुसैन निवासी काशीराम आवास जमनिया गाजीपुर की तहरीर पर आरोपी मुसाफिर यादव के खिलाफ धोखाधड़ी सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है। आरोपी फिलहाल थाने पर हिरासत में है और पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

इस मामले में पकड़े गए आरोपी मुसाफिर यादव के खिलाफ अभ्यर्थी जाकिर हुसैन के द्वारा दी गयी तहरीर में आरोप लगाया है कि मुसाफिर से गाजीपुर में मुलाकात हुई। उसने खुद को सिपाही बताते हुए प्रस्तावित 12 सितंबर के री-मेडिकल के नाम पर 1 लाख में सौदा तय किया और वाराणसी पुलिस लाइन पर बुलाकर 55 हजार रुपए लिया। आज उसने और रुपये लेने के लिए पुलिस लाइन बुलाया था। उससे बात करने पर जब यह जानकारी हुई कि अभी कुछ भी कम नही हुआ है और बाकी रुपया मांग रहा है। शक होने पर अभ्यर्थी ने मुसाफिर को पकड़ कर कैन्ट पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने इस मामले में धारा 406, 420 के तहत मुकदमा दर्ज कर युवक को हिरासत में लेते हुए अग्रिम कार्यवाही शुरू कर दी है।