ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
प्रवासी श्रमिकों को पर्याप्त रोजगार देने की तैयारी, बनारस में पीएम गरीब कल्याण रोजगार अभियान के लिए नोडल अफसर तय
July 2, 2020 • सुरोजीत चैटर्जी • वाराणसी-चंदौली

वाणिज्य मंत्रालय के सचिव श्यामल मिश्र को मिली कमान, की तैयारी बैठक

भारत सरकार के निर्धारित हुए विभागों के अलावा जुड़ेंगे और भी कई महकमे

सुरोजीत चैटर्जी

वाराणसी। केंद्र सरकार ने वाणिज्य मंत्रालय के सचिव श्यामल मिश्र को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान में वाराणसी का नोडल अफसर बनाया है। वह इस अभियान के अंतर्गत जिले में अधिक से अधिक प्रवासी श्रमिकों को 125 दिन का रोजगार देने के लिए विभिन्न स्तर पर होने वाली पहल की निगरानी करेंगे।

श्री मिश्र ने गुरुवार को पहली बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वाराणसी जनपद में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत कराए जाने वाले कार्यों के बारे में बैठक कर विस्तार से चर्चा की। इस मौके पर उनके साथ केंद्र के संबंधित विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे। नोडल अफसर श्री मिश्र ने संकेत दिया कि प्रवासी मजदूरों को कुल 125 दिन का रोजगार देने के लिए रेलवे, दूरसंचार, आईसीडीएस, वन, पंचायती राज, पशुपालन, उद्योग, शिक्षा और मनरेगा आदि विभाग तय किये गये हैं। भारत सरकार और प्रदेश सरकार के इन महकमों के साथ जल्द ही कुछ और भी विभाग शामिल किये जाएंगे। बीते 20 जून से आरंभ प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार मिशन 15 अक्टूबर तक चलेगा।

यह अभियान विशेषकर उन जनपदों के लिए है जहां 25 हजार से अधिक प्रवासी मजदूर हैं। वाराणसी में फिहाल लगभग 51 हजार प्रवासी श्रमिकों में करीब 45 हजार वयस्क प्रवासी मजदूर हैं। श्री मिश्र ने आला स्थानीय अफसरों को बताया कि प्राथमिकतापूर्वक अधिक से अधिक प्रवासी श्रमिकों को निर्धारित दिन तक लगभग 25 योजनाओं के जरिये रोजगार देने के अंतर्गत यदि आवश्यकता हुई तो जॉबकार्ड धारक मनरेगा मजदूरों को भी अभियान में शामिल करेंगे।

उन्होंने कहा कि भारत सरकार के संबंधित जिलों में यह अभियान चलाने के लिए जो योजनाएं शामिल की हैं, उनमें से कुछ स्कीम ऐसी भी हो सकती हैं जो वाराणसी जनपद में पर्याप्त स्वरूप में न हों। जैसे, मुर्गीपालन। उसके स्थान पर यदि रेशम आदि विभागों के कार्य अधिक हैं तो उनके कार्य के टार्गेट बढ़ा दें। जिससे प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने में कोई समस्या न हो। श्री मिश्र ने इस बारे में स्थानीय आवश्यकताओं के अनुसार खाका तैयार कर शुक्रवार तक प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिये। माना जा रहा है कि श्री मिश्र इसी माह के अंत तक वाराणसी का दौरा कर सकते हैं।