ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
पोस्टमार्टम में सनसनीखेज खुलासा: पुलिसकर्मियों को गोली मारने के बाद कुल्हाड़ी से भी किया हमला
July 5, 2020 • जनसंदेश न्यूज • देश-विदेश


जनसंदेश न्यूज़ 
लखनऊ। यूपी के कानपुर में बिकरू में पुलिसकर्मियों के सामूहिक हत्याकांड में कई नये खुलासे हो रहे है। एक तरफ जहां इस मामले में मुखबिर के आरोप में विभाग का ही एक एसओ विनय तिवारी गिरफ्तार है। वहीं दूसरी तरफ रविवार को गिरफ्तार हुए विकास दुबे के एक साथी ने भी चौंकाने वाला खुलासा किया है। उसने बताया कि विकास को पुलिस के छापेमारी की सूचना लगभग पांच घंटे पहले ही लग गई थी। 
हालांकि पुलिसकर्मियों की मौत के बाद पोस्टमार्टम में एक ऐसा चौंकाना वाला मामला सामने आया है। जिसे सुनकर किसी की भी रूंह कांप जाये। दरअसल विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमले के बाद हमलवारों ने वहशीपन की सारी हदें पार कर दी थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि बिकरू गांव में हमलावरों ने पुलिस टीम पर तमंचों के साथ एके-47 से भी गोलियां बरसाई थीं। यहीं कई पुलिसकर्मियों को गोली मारने के बाद कुल्हाड़ी से बेहरमी पूर्वक हमला किया गया था।


रीजेंसी अस्पताल में एक्सरे से पहले शहीद सिपाही जितेंद्र पाल के शरीर से एके-47 की एक गोली बरामद हुई है। वहीं पोस्टमार्टम के दौरान पता चला कि चार जवानों के शरीर से गोलियां आर-पार निकल गई थीं। अन्य चार जवानों के शरीर से 315 और 312 बोर के कारतूस के टुकड़े बरामद हुए हैं।
दारोगा अनूप को सबसे ज्यादा सात गोलियां मारी गईं। वहीं सीओ देवेंद्र मिश्रा के चेहरे, सीने और पैर पर सटाकर गोली मारी गई। उनका भेजा और गर्दन का हिस्सा उड़ गया था, उनके पैर और कमर पर कुल्हाड़ी से वार के निशान थे।