ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
पिता को बेटी के चरित्र पर था शक, गोलगप्पे खिलाने के बहाने बाजार ले जाकर किया हथौड़े से वार, दर्दनाक मौत
June 21, 2020 • जनसंदेश न्यूज • देश-विदेश


जनसंदेश न्यूज़
लखनऊ। यूपी के अलीगढ़ में पुलिस ने किशोरी के हत्या की गुत्थी सुलझा ली है। बेटी के चरित्र पर शक करने वाले पिता ने ही उसकी हत्या की थी। गोलगप्पे खिलाने के बहाने वह बेटी को बाजार ले जाकर सिर पर हथौड़े से वार कर दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने आरोपित पिता को जेल भेज दिया। 
ज्ञातव्य हो कि 17 जून को अलीगढ़ के गांधीपार्क क्षेत्र की यादव कालोनी में एक किशोरी दर्द से तड़पती मिली थी। पुलिस ने तत्काल उसको अस्पताल पहुंचाया। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली कि एक महिला अपनी बेटी को उसी इलाके में ढूंढ़ रही हैं। 
जिसके बाद पुलिस ने उक्त किशोरी की पहचान कराई तो महिला ने उसे अपनी बेटी के रूप में पहचान की। एसपी क्राइम डॉ. अरविंद ने बताया कि उक्त मामले में सीओ पंकज कुमार श्रीवास्तव के नेतृत्व में इंस्पेक्टर सुधीर पाल धामा, धनीपुर मंडी चौकी प्रभारी अश्वनी शर्मा ने पला फाटक से यादव कालोनी के बीच रास्ते के सभी सीसीटीवी कैमरे खंगाले।
घटनास्थल के पास एक कैमरे में अधेड़ शख्स किशोरी के साथ दिखा, मगर उसकी तस्वीर साफ नहीं हो सकी। शुक्रवार को एक अन्य सीसीटीवी फुटेज में सामने आया कि अधेड़ का हुलिया किशोरी के पिता लोकेश से मिल रहा है। लोकेश ने पूछताछ में खुद को पहचानने से इनकार कर दिया। लेकिन कड़ाई के साथ लगभग दो घंटे चली पूछताछ में लोकेश टूट गया और अपना गुनाह कबूला और बताया कि उसे अपनी बेटी के चरित्र पर शक था, बदनामी के डर से उसने उसकी हत्या कर दी।