ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
नीति आयोग के सीईओ बोले, सेवापुरी बनेेगा ऐसा मॉडल ब्‍लाक कि देशभर से देखने आयेंगे लोग
July 17, 2020 • जनसंदेश न्यूज • वाराणसी-चंदौली

नीति आयोग के सीईओ ने सेवापुरी ब्लाक मुख्यालय और बेसहुपुर गांव का किया दौरा

अफसरों, जनप्रतिनिधियों, कर्मचारियों व ग्रामीणों से बातचीत कर लिये कई सुझाव

- सेवापुरी को मॉडल ब्लाक बनाने व गांवों की जनता को जागरूरक करने पर रहा खास जोर

- कहा : इस विकास खंड में प्रत्येक संग तालमेल कर लागू कराएं सरकार की सभी योजनाएं

- विकास खंड में स्मार्ट टेक्नोलॉजी और हेल्थ एजुकेशन टेक्नोलॉजी विकसित करने पर बल

सुरोजीत चैटर्जी

सेवापुरी। सेवापुरी को माडल ब्लॉक के तौर पर विकसित करने के लिए चल रहे कार्यों को लेकर अफसरों के सामने यह स्पष्ट रहे कि संबंधित परियोजनाओं या कार्यों के लिए सिर्फ नीति आयोग के धनराशि लेकर मजबूती नहीं दिखानी है। उसके बजाय को जनता को स्वास्थ्य, शिक्षा, बच्चों के पोषण आदि के प्रति जागरूक भी करना है। भविष्य में आयोग ऐसे मानक विकसित करेगा जिसके जरिये होने वाली रैंकिंग स्वस्थ प्रतिस्पर्धा के भरी हुई हो। दूसरी ओर, ग्राम पंचायतों को बेहतर बनाने वाले ग्रामीणओं, अफसरों और कर्मचारियों के हर माह पुरस्कृत करेंगे। उत्साहवर्द्धन के लिए ग्राम पंचायतों का मूल्यांकन सकारात्मक रूप से होगा। विकास एक सतत प्रक्रिया है, इसे समय में बांधा नहीं जा सकता है। तय की गयी टाइम लाइनों में अच्छे प्रदर्शन और गुणवत्ता का महत्व है। सेवापुरी को एक ऐसा मॉडल ब्लॉक बनाना है जिसे देखने के लिए देशभर से लोग यहां आएं।

एकदिनी दौरे पर शुक्रवार को आए नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कांत ने सेवापुरी विकास खंड मुख्यालय में आयोजित बैठक के दौरान यह कहा। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों, ग्राम प्रधानों, बीडीसी, ब्लाक प्रमुख आदि के साथ दो चरणों में बैठक की। विकास खंड को मॉडल ब्लॉक के तौर पर विकसित करने के बारे में सभी के सुझाव लिए और अपनी राय भी दी।

उसके बाद वह ब्लॉक के बेसहुपुर गांव पहुंचे और विभिन्न लोगों के मुलाकात समेत कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। उनके साथ भारत सरकार में ग्राम्य विकास मंत्रालय के सचिव नागेंद्र नाथ सिन्हा भी थे। सेवापुरी ब्लॉक मुख्यालय सभागार में अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इस विकास खंड को भारत का आदर्श और मॉडल ब्लॉक बनाने के लिए सभी को मिलकर तालमेल के साथ बड़े जनांदोलन के रूप में कार्य करने का आह्वान किया।

उन्होंने ब्लॉक लोगों की आमदमी बढ़ाने, शिक्षा के में बेहतर पहल करने और रोजगारपरक योजनाओं को बल देते हुए सरकार की सभी योजनाओं से संतृप्त करने को कहा। उन्होंने कहा कि विकास खंड के सभी ग्राम पंचायतों में विकास की रफ्तार को लेकर प्रतिस्पर्धा आयोजित हों। मॉडल ब्लॉक बनाने का मुख्य उद्देश्य यह है कि ग्रामीणों का जीवन स्तर को ऊपर उठे और प्रत्येक बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध रहें।

सीईओ ने कहा कि निश्चित रूप से यह विकास खंड देश का आदर्श ब्लॉक बनेगा। विकास खंड में स्मार्ट टेक्नोलॉजी और हेल्थ एजुकेशन टेक्नोलॉजी विकसित करने पर जोर देते हुए जनप्रतिनिधियों, विशेषकर महिलाओं का आह्वान किया कि विकास खंड में जरूरत के मुताबिक सभी इंफ्रास्ट्रक्चर प्राथमिकता पर उपलब्ध कराएंगे। गांवों की विभिन्न समितियों के जरिये गांव में हो रहे विकास कार्यों को जोड़ा जाय। बैठक में जनपद के नोडल अफसर और सूबे के अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह औक मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने भी संबोधित किया।

इस अवसर पर सीडीओ मधुसूदन हुल्दी, डीआरडीए के परियोजना निदेशक उमेशमणि त्रिपाठी, डीडीओ रमाकांत तिवारी, डीपीआरओ शाश्वत आनंद सिंह, उपायुक्त मनरेगा श्रम रोजगार करुणाकर अदीब, जिला कृषि अधिकारी सुभाष मौर्य, जिला समाज कल्याण अधिकारी मीना श्रीवास्तव, जिला कार्यक्रम अधिकारी इफ्तेखार अहमद, जिला उद्यान अधिकारी संदीप कुमार गुप्त आदि भी रहे।

सरकारी स्कूलों का माहौल हो बेहतर

- सेवापुरी ब्लाक मुख्यालय में शुक्रवार को हुई बैठक के दौरान स्थानीय जनप्रतिनिधियों, ग्राम प्रधानों ने अपने सुझाव देते हुए प्रत्येक ग्राम पंचायत में गली, सड़क, हैंडपंप, जलनिकासी की भी समुचित व्यवस्था की आवयकता पर ध्यान दिलाया। शिक्षा, स्वच्छता, स्वास्थ्य सेवा, बहुआयामी खेती, शौचालयों के प्रति और जागरूकता बढ़ाने एवं स्वास्थ्य व्यवस्था समेत फिजिकल इंफ्राट्रक्चर पर जोर दिया। प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में आकर्षक व्यवस्था संग इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरत बतायी। ताकि अभिभावकों का झुकाव अपने बच्चों के लिए प्राइवेट स्कूलों के बजाय गांव के ही सरकारी विद्यालयों की ओर हो। मीटिंग के दौरान विकास खंड में संचालित एवं कराए गए विकास कार्यों का पावर प्वॉइंट प्रजेंटेशन भी किया गया।

ऑन लाइन पढ़ाई का भेजें वीडियो

- शुक्रवार अपराह्न स्थानीय ब्लॉक के बेसहुपुर गांव पहुंचे नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने प्राथमिक विद्यालय परिसर स्थित नंदघर पहुंचे। वहां कई लोगों से बातचीत की। उनके पूछने पर आंगनवाड़ी वर्कर बीना यादव और आशा कार्यकत्री चिंतामणि ने वहां की कार्यप्रणाली बतायी। किसान फौजदार यादव ने एक सवाल के जबाव में सीईओ को बताया कि फसल तैयार होने के बाद उसे घर से ही मंडी के ही रेट पर बेच देते हैं। इस पर अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह कहा कि सरकार का निर्देश है किसान अपनी फसल जहां चाहे वहां बेच सकता है। को कहीं भी बेच सकता है। इन आला अधिकारियों ने किसान अजीत कुमार, शिक्षक संतोष दुबे आदि से भी बातचीत की। साथ ही वर्तमान में जारी आॅनलाइन पढ़ाई का वीडियो उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

खराब शौचालय कराएं दुरुस्त

- सीईओ नीति आयोग अमिताभ कांत ने सेवापुरी के गांवों में शौचालयों के उपयोग के बारे में एक एएनएम आशी से पूछा तो उसने बताया कि लगभग सभी लोग टॉयलेट का उपयोग करते हैं। कुछ इज्जत घर खराब हालत में होने के चलते लोग उसका उपयोग नहीं करते। इस पर सीईओ ने खराब शौचालयों को तुरंत दुरुस्त कराने के निर्देश दिये। केंद्रीय टीम के इन अफसरों ने पौधरोपण भी किया। साथ ही आंगनवाड़ी केंद्र में लगे स्टॉल में गांधी आश्रम सेवापुरी के सोलर चरखा आदि देखे। वहीं, मानमती, शिल्पा पाल और रागिनी की गोदभराई कार्यक्रम में हिस्सेदारी की।

सौंपा 47.11 लाख का डेमो चेक

- नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत और ग्राम्य विकास भारत सरकार के सचिव नागेंद्र नाथ सिन्हा ने शुक्रवार क सेवापुरी ब्लॉक मुख्यालय परिसर में एनआरएलएम के समूह की महिलाओं को रोजगार बढ़ाने के उद्देश्य 47 साख 11 हजार 500 का डेमो चेक सौंपा। साथ ही जोगियापुर के स्वयं सहायता समूह डीह बाबा तथा अदमापुर के सुषमा स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को बैंक क्रेडिट लिंकेज की पासबुक उपलब्ध करायी। इस अवसर पर इम्तियाज अंसारी, पवन कुमार रस्तोगी, माया सिंह, प्रियंका श्रीवास्तव, सुरेंद्र, राम जियावन सरोज, ग्राम विकास अधिकारी महेंद्र प्रताप सिंह आदि की उपस्थिति रही।