ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
नशा मुक्ति और स्वावलंबन की दिशा में अलख जगा रहा होप
July 11, 2020 • जनसंदेश न्यूज • वाराणसी-चंदौली

 

जितेंद्र श्रीवास्तव
वाराणसी। नशा मुक्ति और महिला स्वावलंबन की अलख जगाने की दिशा में सराहनीय कार्य कर रहे होप वेलफेयर ट्रस्ट को नित प्रगति मार्ग की तरफ अग्रसर है। बीएचयू, जेएनयू और डीयू के विद्यार्थियों के इस ट्रस्ट की ओर से बनाए गए ग्रीन ग्रुप के कार्यों की सराहना हर तरफ की जाती है।
आपकों बता दें कि महिलाओं को उनका अधिकार दिलाने और नशा मुक्त बनाने के उद्देश्य से ही 2015 में बीएचयू, जेएनयू और डीयू में पढ़ने वाले विद्यार्थियों ने होप वेलफेयर ट्रस्ट बनाया था। इसके बाद ट्रस्ट के माध्यम से पांच गांवों में ग्रीन ग्रुप का गठन किया। ग्रीन ग्रुप की महिलाओं ने अपने-अपने गांवों में न केवल शराब की दुकानों को बंद कराया बल्कि शिक्षा की अलख भी जगाई। इस अभियान से जुड़ने वालों की संख्या हर साल बढ़ती जा रही है। 

गुरु हो तो रवि जैसा
गुरु की महिमा रवि मिश्रा के उन छात्रों से पूछिए, जिन्होंने रवि के बताए रास्ते का अनुसरण कर उनके साथ सामाजिक उत्थान में अपने आप को झोंक दिया। जी हां, यहां बात हो रही बिहार निवासी रवि की, जिन्होंने बीएचयू से शिक्षा प्राप्त करने के बाद वाराणसी में ही होप आईएएस एकेडमी की शुरूआत की। इस होप कोचिंग में छात्रों को निरूशुल्क आईएएस, पीसीएस की तैयारी रवि ने करवानी शुरू की। आज इनके कई छात्र पीसीएस बनकर अपने गुरु का नाम रौशन कर रहे है। रवि ने होप कोचिंग को बंद कर होप वेलफेयर ट्रस्ट बनाया तथा कोचिंग के शेष छात्रों को इससे जोड़ा। आज इनके 200 छात्र ग्रामीण उत्थान में लगे हैं। होप ट्रस्ट गांव-गांव में महिलाओं का समूह ग्रीन ग्रुप का निर्माण करता है। ये समूह अपने गांव में नशा, जुआ रोकथाम, बालिका शिक्षा के प्रचार, दहेज व अंधविश्वास के खिलाफ लोगों को जागरूक करता है। वर्तमान में ग्रीन ग्रुप में 900 महिलाएं हैं, जो वाराणसी, अयोध्या, मीरजापुर, जौनपुर में कार्यरत है। संकट के समय होप टीम हजारों परिवार तक राशन पहुंचा चुका है, जिसमें आदिवासी, वनवासी, बुनकर, मछुवारे, आमजन और ट्रांसजेंडर, मूर्तिकार शामिल है। रवि के होप वेलफेयर ट्रस्ट को राष्ट्रपति से प्रशंसा, राज्यपाल का बुलावा, गोदरेज, रफ एंड टफ कंपनी से अवॉर्ड, बीबीसी लंदन की डॉक्यूमेंट्री जैसी उपलब्धियां प्राप्त हो चुकी है। भविष्य में रवि ग्रीन ग्रुप का फैलाव उन जिलों में करना चाहते हैं, जहां महिला प्रताड़ना बहुत ज्यादा है।