ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
मोबाइल से बात करने पर पिता और भाई ने डांटा तो युवती गंगा में लगा दी छलांग, मछुआरों ने बचाया, लेकिन.....
August 30, 2020 • संजय दूबे • पूूर्वांचल

चोरों ने युवती की साइकिल पर हाथ किया साफ

जनसंदेश न्यूज
मीरजापुर। चुनार थाना क्षेत्र के मेडिया पक्का पुल पर साइकिल खड़ी कर एक युवती ने गंगा में छलांग लगाई। वहीं मौके से युवती की साइकिल पक्का पुल से चोरों ने गायब कर दिया। बताया जाता है कि परिजनों के मोबाइल पर बात करने से मना करने से क्षुब्ध होकर युवती ने साइकिल से पुल पर पहुंच कर गंगा में छलांग लगा दी। संयोग वश उस दौरान उसे छलांग लगाते मछली मार रहे मछुआरों ने देखकर बचा लिया।
बताया जाता है कि चुनार कोतवाली के प्रेमापुर गांव निवासिनी जमुना देवी पुत्री हिरामन साहनी 17 वर्ष ने अपने घर से साइकिल से रामगढ़ जाने की बात कह  कर निकली और 9 बजकर 45 मिनट के करीब पक्का पुल पर पहुंच गई। मेंड़िया पक्का पुल पर सायकिल अपनी खड़ी कर के पुल पर से गंगा में छलांग ली। जिस घटना को नदी में मछली मार रहे मछुआरों ने देखा और डूब रही युवती को बचा लिया। 
वहीं सूचना पर पहुंची चुनार पुलिस ने लड़की का बयान लेकर परिजनों को सूचना देकर बुलाया। परिजनों के पहुंचने पर युवती को परिजनों को पुलिस ने सौंप दिया। युवती ने पुलिस को बताया कि घर में मोबाइल से बात कर रही थी तो पापा और भाई ने हमें डॉट लगाई। डाट से क्षुब्ध होकर हमने जान देने के लिए पक्का पुल पर आकर अपनी साइकिल खड़ी कर गंगा में छलांग लगा ली, उधर पक्का पुल पर खड़ी सायकिल चोरी हो गई।