ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
कोतवाली में सिपाही ने पहले प्रभारी कोतवाल पर किया फायर, फिर खुद को मार ली गोली, दोनों गंभीर, यह था कारण
September 4, 2020 • जनसंदेश न्यूज • देश-विदेश


जनसंदेश न्यूज़
लखनऊ। यूपी के बंदायू में 10 की जगह की जगह तीन दिन की छुट्टी मिलने से नाराज सिपाही ने एके-47 से पहले एसएसआई पर फायर कर दिया। आरोपी सिपाही ने एसएसआई पर फायर करने के बाद  को भी गोली मार ली। अचानक हुए इस घटना क्रम से ना सिर्फ कोतवाली बल्कि पूरे जिले में हड़कंप मच गया। गोली लगने के बाद एसएसआई और सिपाही को तुरंत जिला अस्पताल लाया गया, जहां प्रारंभिक उपचार के बाद से दोनों को बरेली के मिशन अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। सूचना पर डीएम सहित अन्य पुलिस अफसर जिला अस्पताल पहुंचे। 

जनपद के उझानी कोतवाली में पदस्थ सिपाही ललित घर जाने को 10 दिन का अवकाश मांग रहा था, लेकिन उसका तीन दिनों का ही अवकाश स्वीकृत हुआ। जिसको लेकर वह काफी नाराज हो गया। शुक्रवार को जब वह कोतवाली पहुंचा तो वहां उसका प्रभारी कोतवाल एसएसआई रामौतार से कहासुनी हो गई। इसी बीच सिपाही ने कंधे पर टंगी एके-47 को उताकर एसएसआई पर फायर कर दिया। उसके बाद सिपाही ने खुद को भी गोली मार ली। एसएसआई को दोनों पैरों में गोली लगी जबकि सिपाही के कंधे पर लगी। 

इस संबंध में जिलाधिकारी ने बताया कि कोतवाली के इंस्पेक्टर ओंमकार सिंह के कोरोना संक्रमित होने के कारण कोतवाली का चार्ज एसएसआई रामौतार के पास था। सिपाही का चार दिन का अवकाश मंजूर हुआ था लेकिन वह ज्यादा दिनों का अवकाश मांग रहा था। दोनों घायलों को मिशन अस्पताल बरेली रेफर कर दिया गया है। मामले के जांच के आदेश दे दिये हैं।