ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
कोलनाइजर नीतू त्रिपाठी समेत दो पर लगा गैंगस्टर, एक दर्जन से ज्यादा आपराधिक इतिहास, करोड़ों के गबन का आरोप
September 6, 2020 • रवि प्रकाश सिंह/डॉ. आनंद मिश्रा • वाराणसी-चंदौली

फर्जीवाड़ा कर बड़े पैमाने पर उगाही के आरोप

कूचरचित दस्तावेज और हनक के दम पर किया करोड़ों का खेल

रवि प्रकाश सिंह/डॉ. आनंद मिश्रा
वाराणसी। कोलनाइजर नीतू त्रिपाठी समेत दो पर कैंट थाना पुलिस ने गैंगस्टर में मुकदमा दर्ज किया। कोलनाइजर रविंद्र मौर्य और सहयोगी नीतू त्रिपाठी पर कूटरचित दस्तावेज, फर्जीवाड़ा और लोगों को धमका के करोड़ों गबन करने का आरोप है। कैंट थाने में दोनों के खिलाफ एक दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज हैं। सबसे ज्यादा जमीन कारोबार से जुड़े मामले हैं। कैंट थाने के अलावा लंका थाने में भी नीतू त्रिपाठी पर मुकदमा दर्ज है। दोनों के आपराधिक इतिहास की चार्ट तैयार कर कैंट थाना पुलिस ने जिलाधिकारी को भेजी थी। जिलाधिकारी से अनुमोदन के बाद गैंगस्टर में मुकदमा दर्ज किया गया। सूत्रों की माने तो अब अपराध से अर्जित इनकी चल और अचल संपत्तियों को जप्त करने की तैयारी है।  

कैंट थाना पुलिस की माने तो कूटरचित दस्तावेज तैयार कर जमीन हड़पना, गुंडई के दम पर लोगों का मुंह बंद कराना और कंपनी के दस्तावेजों में फेरबदल कर निवेशकों का पैसा हड़पना मुख्य धंधा था। जमीन विवाद में एक बार नीतू त्रिपाठी पर जानलेवा हमला भी हो चुका है। मामले तुल तब पकड़ा जब निराला नगर शिवपुरवा निवासी कृपा शंकर राय ने वैशाली रियल स्टेट लिमिटेड के निदेशकों-फुलवरिया, कैंट के रवीन्द्र मौर्य के अलावा नीतू त्रिपाठी के खिलाफ फर्जी  व कूट रचित दस्तावेज तैयार कर पैसा हड़पने और भुगतान के बाद भी जमीन न देने के आरोप में कैंट थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। इस मामले में रवीन्द्र मौर्य गिरफ्तार पहले ही हो चुकी है। वहीं इसी साल 14 जून का नीतू त्रिपाठी को कैंट पुलिस ने रविंद्रपुरी स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया।