ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
किस्त ना जमा कर पाने पर पति-पत्नी ने एक महिला के साथ मिलकर रचा छिनैती का नाटक, ऐसे उठा राज से पर्दा
July 30, 2020 • शाहनवाज खान • मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही

पुलिस ने कोतवाली में पूछताछ की तो सच्चाई आई सामने

जनसन्देश न्यूज
भदोही। जनपद में इन दिनों शहरी क्षेत्रों के अलावा ग्रामीण क्षेत्रो में भी सूदखोरों व अवैधानिक तरीके से ऊँचे ब्याज दर पर ऋण देकर गरीबो के शोषण की घटनाएं बढ़ गयी हैं। लॉकडाउन के दौरान अर्थव्यवस्था बिगड़ जाने की वजह से कर्ज का किस्त भरने के आये दिन विवाद सुनने को मिल रहे हैं। शहर कोतवाली क्षेत्र के रयाँ गांव के राजेश सरोज ने बीसी की किस्त न जमा करने के लिए खुद की छिनैती का नाटक कर डाला। 
वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस भी सकते में आ गई। पति-पत्नी और उससे जुड़े लोगों को जब पुलिस कोतवाली में लाकर कोतवाल श्रीकांत राय व क्राइम ब्रांच ने पूछताछ की तो मामले की सच्चाई सामने आ गया। बीसी का रुपया न जमा करना पड़े। इस लिए पति-पत्नी ने अफवाह फैलाई। जिसमें उसी गांव की एक महिला ने उसका साथ दिया। पुलिस ने सभी को गिरफतार कर संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए जेल भेजने की तैयारी कर रही थी।
चौरी थाना क्षेत्र के मानिकपुर गांव में उत्कर्ष बैंक के नाम से बीसी का संचालन किया जा रहा है। क्षेत्र के रयां गांव की एक महिला सीमा देवी भी उस बीसी से जुड़ी है। उसने गांव के ही राजेश सरोज पुत्र देवराज सरोज को भी बीसी का सदस्य बना दिया। राजेश द्वारा बीसी के रुपए को जमा नहीं किया जा रहा था तो
गुरुवार को उक्त बीसी के संचालक आजमगढ़ निवासी शैलेश सिंह गांव में पहुंचे और राजेश को रुपया जमा करने को कहा। राजेश अपनी पत्नी सन्नो को साइकिल पर बैठाकर यह कह कर निकला कि बीसी का 11800 रुपया जमा करने के लिए मानिकपुर जा रहे हैं। वह जैसे ही फत्तुपुर गांव के पास स्थित आईटीआई के समीप पहुंचा तो पुलिस को सूचना दिया कि अपाचे सवार उचक्के पत्नी को धक्का मारकर 11800 रुपए व मोबाइल लेकर स्टेशन रोड की तरफ भाग गए। पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन में जुट गई। राजेश व उसकी पत्नी सन्नो तथा सीमा व शैलेश को पुलिस कोतवाली ले आई। जहां सभी से पूछताछ की गई। 
इस मामले में प्रभारी निरीक्षक श्रीकांत राय ने बताया की बीसी की किस्त जमा करने के मामले में बीसी वाले राजेश पर किस्त जमा करने के लिए बार बार दबाव बना रहे थे, बीसी का पैसा न जमा करने के राजेश ने पैसा अपनी पत्नी को देकर छिनैती की कहानी गढ़ी थी। आरोपी हिरासत में लिए गये हैं, पैसा बरामद कर लिया गया हैं। कानूनी कार्यवाई की जा रही है।