ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
किसानों की भैंस पर आफत बनकर गिरी आकाशीय बिजली, 21 भैसों की मौत, छिन गई रोजी-रोटी 
September 12, 2020 • भारत भूषण त्रिपाठी • पूूर्वांचल



जनसंदेश न्यूज
इमिलियाचट्टी/मीरजापुर। अहरौरा थाना क्षेत्र के सीयुर गांव के दक्षिण तरफ स्थित छीवाई देई जंगल में शनिवार को सुबह पहाड़ से निकलने वाली नदी एवं झरने के पानी में बैठी 21 भैसों की मौत आकाशीय बिजली गिरने से हो गई। उसके बाद वहां कोहराम मच गया और जंगल में भैसों को लेकर रखने के लिये गये चरवाहों ने इसकी सूचना घर पर दिया। जिसके बाद गांव के लोग मौके पर पहुंच कर इसकी सूचना पुलिस को दी। 

जानकारी के अनुसार जुलाई के महीने मे खेतों में धान की रोपाई हो जाने के बाद गांव में भैस रखने वाले अधिकांश लोग भैंसों को लेकर जंगल में चले जाते हैं और वहीं चारा, पानी देते और खिलाते हैं। वहीं से भैंसों का दूध निकाल कर बेचते हैं। शनिवार की सुबह ही भैंसें पहाड़ के बीच में बने गड्ढे में इकट्ठा पानी में बैठी थी। उसी समय आकाशीय बिजली का कहर इन भैंसों पर टूट पड़ा और बिजली की चपेट में आने से सियाराम यादव ग्राम डोहरी अहरौरा की 5 भैंस, उमाशंकर यादव ग्राम डोहरी अहरौरा की 11 भैंस एवं गुलाब यादव ग्राम खाजगीपुर अहरौरा की 5 भैंसों की झुलसने से मौत हो गयी।

भैंसों के मरने की सूचना पशु स्वामियों पर कहर बन कर टूट गया। इन लोगों ने बताया कि इनके आजीविका का साधन यही पशु थे। समाजसेवी वीरेन्द्र कुमार उर्फ राजू सिंह ने सभी भैंसों की मौत पर दुःख व्यक्त करते हुये उनके स्वामियों को मुआवजा देने की मांग जिला प्रशासन से किया है।