ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश कोविड-19/देश-विदेश मनोरंजन/लाइफस्टाइल
कटा चालान तो कोतवाली की बिजली काटने पहुंचे लाइनमैन, कोतवाल ने जमकर पीटा, पूरे तहसील क्षेत्र की काटी लाइन, मचा हाहाकार
July 18, 2020 • शशिमोहन सिंह • इलाहाबाद

गर्मी से बेहाल लोगों का हुआ बुरा हाल

आक्रोशित विद्युतकर्मी आपूर्ति ठप्प कर धरने पर बैठे

पुलिस कर्मियों के विरुद्द एफआईआर की मांग पर अड़े विद्दुतकर्मी



जनसंदेश न्यूज़
मछलीशहर/जौनपुर। पूरे प्रदेश में लागू वीकेंड लाॅकडाउन के दौरान चेकिंग कर रहे पुलिस ने बिजली बनाने जा रहे दो लाइनमैनों का चालान काटा तो विरोध में लाइनमैनों ने जेई के कहने पर कोतवाली की लाइन काटने पहुंच गये। जहां कोतवाल ने उनकी जमकर पिटाई कर दी। जिससे आक्रोशित विद्युत कर्मियों ने विद्युत आपूर्ति ठप्प कर हड़ताल पर चले गये और विद्दुत उपकेन्द्र पर आरोपी पुलिस कर्मियों पर एफ आई आर की मांग को लेकर धरने पर बैठ गये। सभी फीडरों की लाइन ठप्प होने से उपभोक्ता परेशान हैं।
बताया जाता है कि शनिवार दोपहर मछलीशहर कोतवाली में तैनात उपनिरीक्षक धन्नजय रॉय व विजय दिवाकर कोतवाली के सामने बैरकोटिंग कर हमराहियों के साथ बिना मास्क लगाये लोगों व गाड़ियों के कागजात की जाँच कर रहे थे। तब तक एक ही बाइक से गुजर रहे दो लाइनमैन रमाकान्त व संविदा विद्दुत कर्मी गुड्डू को रोककर बिना मॉस्क लगाने के आरोप में चालान कर दिया। जबकि विद्दुत कर्मी गमछा होने के बावजूद भी चालान करने का आरोप लगाने लगे। 
अंत में लाइनमैन द्वारा जेई अवधेश कुमार यादव को घटना की जानकारी दी गई। इसके बाद जेई के कहने पर कोतवाली की लाइट काट दी गई। बताया गया कि लाइन काटने गये दोनों लाइनमैनों की कोतवाल ने जमकर पिटाई कर दी। जानकारी होने पर बिजली विभाग के एक्स ई एन आर. एम. मिश्र, एसडीओ अमर देव सिंह पटेल व प्रभारी निरीक्षक दिनेश प्रकाश पांडेय की उपस्थिति में वार्ता हुई। दोनों पक्षों में बाद में समझौता हो गया। 


एसडीओ अमर सिंह पटेल ने बताया कि थोड़ी देर बाद कोतवाल ने वापस बुलाकर मीडिया कर्मियों की उपस्थिति मे कहा कि लाइनमैनों ने दरोगा को गाली देने के आरोप में मारा गया। इसके बाद विद्युत कर्मी उपकेंद्र पहुंचे। जहां कोतवाली पुलिस पर गुड्डू नाम के संविदा लाइनमैन की पिटाई करने का आरोप लगाकर मछलीशहर कस्बा, मधुपुर, सतहरिया, मुंगरा बादशाहपुर, बंधवा, बरईपार सहित सुजानगंज के फीडर की आपूर्ति ठप्प कर दी गई। सभी विद्दुत कर्मी विद्युत उपकेन्द्र पर नारेबाजी करते हुये धरने पर बैठ गये। 
आरोपी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध एफ आई आर की मांग पर अडे रहे। शाम तक बिजली कर्मी व पुलिस कोई भी झुकने को तैयार नही है। दोनों की अहम की लड़ाई में आम जनता इस भीषण गर्मी में पिस रही है। मामले के बाबत बिजली विभाग के अधिकारियों से बात करने की कोशिश की गई तो सभी को मोबाइल बंद बता रहा था। प्रभारी निरीक्षक दिनेश कुमार पांडेय से बात की गई तो उन्होंने कहा कोतवाली में समझौता हो गया था। बाद में पिटाई का आरोप लगाकर हड़ताल करने की सूचना मिल रही है। मामले को लेकर उच्चाधिकारियों को जानकारी दे दी गई है।

कोतवाल के खिलाफ एफआईआर पर अडे विघुत कर्मचारी संगठन 
मछलीशहर। विघुत उपकेन्द्र पर धरने पर बैठे विघुत मजदूर पंचायत संघ के प्रदेश सचिव संजय यादव, प्राविधिक कर्मचारी संघ के जिलाध्यझ सत्यनारायण उपाध्याय रविन्द्र सिंह अखिलेश तिवारी ने कहा कि कोतवाल ने बर्बरता पूर्वक पिटाई की, इसलिए कोतवाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं होने तक पूरे तहसील क्षेत्र की आपूर्ति बाधित रहेगी।
आपको बता दें कि आरोप कोतवाल का विवादों से गहरा नाता रहा है। थाना लाइन बाजार में तैनाती के दौरान इन्होंने ही एक विकलांग फोटो स्टेट संचालक तथा उनकी गर्भवती बहन को घर में घुस कर पिटाई की थी।