ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
झोलाझाप डाक्टर के इलाज से युवक की मौत, कीटनाशक का किया था सेवन, संचालक पर मुकदमा दर्ज
June 24, 2020 • अजय सिंह उर्फ राजू • जौनपुर-गाजीपुर



जनसंदेश न्यूज़
जमानियां/गाजीपुर। कोतवाली क्षेत्र स्थित धुस्का गांव निवासी एक युवक की झोलाछाप डाक्टर के इलाज से मौत हो गई। मृतक के भाई ने हास्पिटल संचालक के खिलाफ तहरीर दिया है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। 
धुस्का निवासी 19 वर्षीय सत्यजीत चौधरी ने मंगलवार की शाम करीब 5 बजे अज्ञात कारणों से कीटनाशक पदार्थ का सेवन कर लिया। इसके बाद उसकी तबियत बिगड़ने लगी। परिजनों ने आनन फानन में उसे प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया। जहां हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने वाराणसी रेफर कर दिया। परिजन निजी वाहन से वाराणसी जाने ही वाले थे कि वहां मौजूद दलालों ने अच्छा इलाज का हवाला देकर कोतवाली स्थित जीवनदीप अस्पताल में भर्ती कराया। 
इधर अस्पताल में कोई चिकित्सक नहीं था और पूरी रात धनउगाही के चक्कर में प्रशिक्षण विहीन कर्मचारी इलाज करते रहे। बुधवार की सुबह इलाज के दौरान  सत्यजीत की मौत हो गई। मृतक के छोटे भाई लक्ष्मण चौधरी ने बताया भाई अज्ञात कारणों से किटनाशक का सेवन कर लिया था। जिसको प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र से रेफर कर दिया गया। जिसके बाद वाराणसी ले जाने की तैयारी चल रही थी तभी कुछ दलालों ने फर्जी चल रहे आस्पताल में भर्ती करा दिया। जिसमें इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। कोतवाल राजीव कुमार सिंह ने बताया कि मृतक सत्यजीत के भाई लक्षमण द्वारा तहरीर दी गयी है। मामले की जांच कर विधिक कार्रवाई की जाएगी।