ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
जन्मदिन पर दादा अमरीश पुरी को याद कर भावुक हुए पोते वर्धनपुरी 
June 23, 2020 • डा. दिलीप सिंह  • मनोरंजन/लाइफस्टाइल


अमरीश पुरी की जयंती के अवसर पर उनकी यादों को शेयर किया  

जनसंदेश न्यूज़
इंदौर। अमरीश पुरी इस देश में हमारे लिए सबसे बेहतरीन और शानदार अभिनेताओं में से एक थे। वह एक अनुकरणीय अभिनेता थे और उन्होंने दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे करण अर्जुन और नायक द रियल हीरो जैसी फिल्मों में भूमिकाओं के साथ बॉलीवुड में अपनी प्रभावशाली पहचान बनाई। ज्यादातर प्रशंसक आज भी उन्हें मिस्टर इंडिया में निभाए गए उनके किरदार मोगैम्बो के रूप में याद करते हैं। व्यावसायिक रूप से सफल अभिनेता होने के अलावा उन्होंने मंथन निशांत और भूमिका जैसी आर्टहाउस फिल्मों में भी शानदार प्रस्तुतियां दीं। 
अमरीश जी ने स्टीवन स्पीलबर्ग की इंडियन जोन्स एंड द टेम्पल ऑफ डूम में भूमिका निभाने  के साथ अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त की। जहां उन्होंने मोला राम के किरदार की व्याख्या की। वर्धन पुरी अपने दादा की यादों के बारे में बात करते हुए बताते हैं कि एक अच्छा अभिनेता होना उनकी कई प्रतिभाओं में से एक था। वर्धन ने अपने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि हम किसी भी रिश्ते में होने से पहले सबसे अच्छे दोस्त थे। जब वह आसपास होते थ तो मुझे किसी और की जरूरत नहीं थी। वह सभी बच्चों के साथ बहुत ही सज्जन थे। हम क्लासिक सिनेमा डिस्कवरी चैनल और कार्टून एक साथ देखते थे। वह वास्तव में बड़े ही सौम्य व्यक्ति थे। सबसे विनम्र व्यक्ति जिसे मैंने अभी तक देखा। 
वर्धन ने आगे कहा कि वह हर किसी के लिए और सभी के लिए दया और बहुत प्यार से भरे हुए थे वह बहुत दयालु थे। उनके पास एक अद्भुत सेंस ऑफ ह्यूमर था। महिलाएं और बच्चे उनके साथ होने पर बहुत सुरक्षित महसूस करते थे। हमने उन्हें कभी भी अपनी आवाज तेज करने या हमारे ऊपर गुस्सा करते नहीं देखा है। जैसे वह फिल्मों में करते थे। मेरे लिए अभी भी दादा को अभिनेता और सुपरस्टार से अलग करना काफी मुश्किल है, क्योंकि वह अभी भी है। हम सभी उन्हें बहुत मिस करते हैं। वर्धन हम सभी की तरह अपने शिल्प में महारत हासिल करने वाले अमरीश की एक्टिंग के दीवाने थे।