ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
जन अधिकार पार्टी प्रमुख बाबू सिंह कुशवाहा ने कहा, हमारी नकल कर रहे सपा, कांग्रेस के नेता
July 2, 2020 • संताेष तिवारी बिंदास • जनसंदेश एक्सक्लूसिव

दिलों का है गठबंधन है भागीदारी संकल्प मोर्चा

जनसंदेश न्यूज 
वाराणसी। भागीदारी संकल्प मोर्चा के अगुवा और जन अधिकार पार्टी प्रमुख बाबू सिंह कुशवाहा ने कहा कि भागीदारी संकल्प मोर्चा दिलों का गठबंधन है और यह कभी नहीं टूटेगा। हमारी विचारधारा एक है। यह ऐलान उन्होंने सर्किट हाउस में तब की जब मोर्चा के तीन प्रमुख घटक दल के प्रमुख वहां मौजूद रहे। कहा कि 2022 में होने वाले चुनाव की तैयारियां मोर्चा ने आठ माह पहले ही शुरू कर दी है। कई साझा रैलियां भी हो चुकी हैं। अब तैयारी है चुनाव जीतकर सरकार बनाने की। बाबू सिंह कुशवाहा ने केंद्र की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार बढ़े पेट्रोलियम पदार्थों के बढ़े हुए दाम का ठिकरा तेल कंपनियों पर फोड़ रही है। सरकार कह रही है कि जो दाम बढ़ रहा है वह तेल कंपनियां बढ़ा रही है, जबकि ऐसा नहीं है। सरकार से बढ़कर कोई नहीं है। उन्होंने बताया कि तेल के दाम बढ़ने से सरकारी खजाना नहीं भर रहा बल्कि तेल कंपनियों को फायदा पहुंच रहा है।
भागीदारी संकल्प मोर्चा का आधिकारिक ऐलान करते हुए बाबू सिंह कुशवाहा ने कहा कि प्रदेश के हालात बेहद ही चिंताजनक है। लगातार प्रदेश में लूट, हत्या और बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं लेकिन सरकार आंखें मूंदी है। बिहार में महागठबंधन के साथ जाने के सवाल पर कहा कि अगर महागठबंधन से भी बात बनी तो बिहार में भी मोर्चा का गठबंधन हो सकता है।

बीजेपी यानि भारतीय झूठ पार्टी
वाराणसी। हर बार की तरह इस बार भी मोदी और योगी सरकार पर सुभासपा प्रमुख ओमप्रकाश हमलावर रहे। भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी का अर्थ भारतीय झूठ पार्टी है। अटल बिहारी वाजपेई के जमाने में यह बीजेपी थी लेकिन अब नहीं। झूठ बोलने में पीएम को महारथ हासिल है। ओमप्रकाश राजभर ने  कहा कि प्रधानमंत्री अपनी बातों में रोटी, कपड़ा मकान, शिक्षा, स्वास्थ्य व रोजगार की बात नहीं करते हैं। वह केवल लच्छेदार भाषा में अपनी वाहवाही लूटते हैं। कहा कि गुजरात के पीएम ने हर प्रमुख पदों पर गुजरातियों को लाकर भर दिया। अब राज्य की योगी सरकार भी गुजरात दल के इशारे पर काम कर रही है, इनकी सरकार को दस ब्यूरोक्रेट्स अपने इशारे पर चला रहे है। सरकार ने जितने वादे किए थे। उन सारे वादों पर विफल होती दिख रही हैं। सोने की चिड़िया बनाने की बात कहने वाली सरकार कभी विश्व गुरु बनाने की बात करती हैं तो कभी आत्मनिर्भर। अब सरकार कहती है कि उच्च शिक्षा लेकर मनरेगा में जाकर मजदूरी करो, यह कैसा आत्मनिर्भर बनाने की बात हुई?

जब योगी थे तब सीएम सच बोलते थे
ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि आदित्यनाथ जब योगी थे तब सच बोलते थे, जबसे मुख्यमंत्री बने है तब से वह वही बोलते है जो अधिकारी उन्हें लिखकर देते हैं। शिक्षक भर्ती घोटाला हुआ, आखिर पकड़े गए लोगों पर क्या कार्यवाई हुई। इलाहाबाद में गिरोह पकड़ने वाले एसएसपी का इनाम में मध्य रात्रि को तबादला कर दिया गया।