ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
जमीनी विवाद में चटकी चाठियां, एक की युवक की मौत, कई घायल
June 18, 2020 • धीरज कुमार मिश्रा • आजमगढ़-मऊ


मेड़ बांधने को लेकर दो पक्ष हुए आमने-सामने

जनसंदेश न्यूज
मेंहनगर/आजमगढ़। स्थानीय थाना क्षेत्र के गोपालपुर सरईयां गांव में मेड़ के विवाद को लेकर दो पक्षों में जमकर लाठियां चली। जिसमे अंकित 18 पुत्र नकछेद चौहान गम्भीर रुप से घायल हो गये। स्थानीय लोग उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ले गये। जहां डॉक्टर ने उसे मृतक घोषित कर दिया।
मेंहनगर थाना क्षेत्र के गोपालपुर सरैया गांव में नच्छेद चौहान और मिटठू चौहान के बीच कई दिनों से मेड़ का विवाद चल रहा था। बुधवार की शाम को खेत में मेड़ बांधने को लेकर दोनों पक्षा आमने सामने हो गये। जिसमें दोनों तरफ से जमकर लाठियां चली। दोनों पक्ष से 6 लोग घायल हो गये। दूसरे पक्ष के लोगों ने अंकित को मारपीट कर गम्भीर रुप से घायल कर दिया। जिसे उपचार के लिए स्थानीय लोग प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ले गये जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 
इस मारपीट में अंकित की मां भी गम्भीर रुप से घायल हो गयी। जिन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों ने उन्हे हायर सेन्टर के लिए रेफर कर दिया, लेकिन परिजन असमर्थता जताते हुए कही ले जा नही रहे है। मृतक के पिता की तहरीर पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। घटना की सूचना मिलते ही क्षेत्राधिकारी लालगंज, थाना अध्यक्ष मेंहनगर मौके पर पहुंच कर छानबीन शुरु कर दिये। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया।  
अंकित हत्याकाण्ड में पुलिस की लापरवाही आयी सामने
आजमगढ़। मेंहनगर थाने के गोपालपुर सरैया गांव में बुधवार की शाम मेड़ के विवाद को लेकर जहां एक युवक की हत्या हो गयी। वहीं मृतक की मां को भी काफी चोटे आयी हैं। जबकि विवाद की पृष्ठभूमि जब तैयार होने लगी तो उभय पक्षों द्वारा इसकी सूचना स्थानीय थाने को दे दी गयी थी, लेकिन कौन सा ऐसा कारण था जिसकी वजह से पुलिस ने इसमें गम्भीरता नहीं दिखाई। यदि पुलिस गम्भीरता दिखाते हुए कार्रवाई की होती तो अंकित की हत्या नहीं होती। पूरे घटनाक्रम की बात करें तो पुलिस की लापरवाही सामने आ रही है। हत्या के बाद तो पुलिस मौके पर पहुंच गयी, लेकिन हत्या के पहले सूचना के बाद आखिर क्यों नहीं पहुंची।