ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
जमीनी विवाद को लेकर खूब चले चाकू-रम्मा, दस लोग घायल, तीन रेफर
June 18, 2020 • अजय सिंह उर्फ राजू • जौनपुर-गाजीपुर


दोनों पक्षों ने प्रशासन पर लगाया आरोप

जनसंदेश न्यूज 
दुल्लहपुर/गाजीपुर। थाना क्षेत्र स्थित नसीरपुर गांव में जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। इस घटना में दस लोग घायल हो गए। इस दौरान विवाद में चाकू व रम्मा से भी एक दूसरे पर हमला हुआ। घायलों को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जखनियां भेजा गया। जहां से एक पक्ष के तीन लोगों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। सूचना पर पहुंची पुलिस घटना की छानबीन में जुट गई।
थाना क्षेत्र के नसीरपुर दलित बस्ती के नंदू राम तथा सरवन राम के बीच जमीन का काफी दिनों से  विवाद चल रहा था।  गांव में चकबंदी के दौरान हुई लापरवाही में 35 वर्षाे से रह रहे नंदू राम के घर को भी चकबंदी में शामिल कर लिया गया व उनके घर को दूसरे का चक बना दिया गया। जिस पर एक पक्ष कब्जा करना चाहता है। इस मामले को लेकर दोनो पक्ष थानें से लेकर लेखपाल तक चक्कर लगा रहे थे।
दोनों पक्षों का कहना है कि विवादित जमीन को लेकर दुल्लहपुर थाने पर कई बार प्रार्थना पत्र दिया गया। लेकिन पुलिस मौका मुआयना करने नहीं पहुंची। इसके साथ ही हल्का लेखपाल से भी विवादित भूमि के मामले में नापी कराकर कब्जा दिलाने की सिफारिश की गई। मगर सभी जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही से विवाद बढ़ता चला गया। बताया कि अधिकारियों द्वारा पूरे मामले पर कोई सुनवाई हुई है। 
वहीं बुधवार को यह विवाद खूनी संघर्ष का रूप ले लिया। दोनों पक्षों में जमकर बवाल हुआ। बवाल के दौरान धारदार हथियार का भी प्रयोग किया गया। हमले में एक पक्ष के नंदू राम, दुर्गावती देवी, रविन्द्र कुमार, बंदना भारती, चंदना भारती, सिकंदर व दूसरे पक्ष के सरवन राम, ज्ञानती देवी, छोटेलाल व सुनीता देवी घायल हो गई। सभी लोगों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया। इस मामले में थानाध्यक्ष जितेन्द्र बहादुर सिंह ने बताया कि दोनों पक्षों से मिले तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।