ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
हाईकोर्ट में इस मामले को लेकर हाजिर हुए बनारस एसएसपी, 22 सितंबर को फिर पेश होने का निर्देश
September 3, 2020 • अनूप मिश्रा • आगरा


जनसंदेश न्यूज
प्रयागराज। बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के लापता बीएससी द्वितीय वर्ष के छात्र शिवकुमार त्रिवेदी के मामले में बृहस्पतिवार को एसएसपी वाराणसी अमित पाठक हाईकोर्ट में पेश हुए। उन्होंने बताया कि पुलिस द्वारा की गई छानबीन की रिपोर्ट कोर्ट में सीलबंद लिफाफे में पेश की जा चुकी है। मामले की सुनवाई कर रही न्यायमूर्ति शशिकांत गुप्ता और न्यायमूर्ति शमीम अहमद की पीठ ने पुलिस की रिपोर्ट देखने के बाद याची अधिवक्ता सौरभ तिवारी को इसका जवाब दाखिल करने के लिए एक सप्ताह की मोहलत दी है। 

अपर शासकीय अधिवक्ता सैयद ने कोर्ट को बताया कि पुलिस द्वारा अब तक की गई जांच से संबंधित दस्तावेज कोर्ट में दाखिल कर दिए गए हैं। कोर्ट ने याची अधिवक्ता को पुलिस रिपोर्ट की फोटो कापी उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। ताकि वह इसका जवाब दाखिल कर सकें। कोर्ट ने मामले की सुनवाई के लिए 22 सितंबर नियत करते हुए याची अधिवक्ता को रिपोर्ट पर जवाब देने का निर्देश दिया है।

हाईकोर्ट ने एसएसपी वाराणसी को अगली सुनवाई पर भी अदालत में उपस्थित रहने के लिए कहा है। एसएसपी की ओर अपर महाधिवक्ता विनोद कांत ने पक्ष रखा। याची अधिवक्ता का कहना है कि छह माह पूर्व लंका थाने की पुलिस शिव कुमार त्रिवेदी को बीएचयू से बुलाकर ले गई थी। 

इसके बाद से उसका कहीं कुछ पता नहीं है। पुलिस उसके बारे में जानकारी देने से इंकार कर रही है। परिवार वालों और बीएचयू प्रशासन की रिपोर्ट पर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। जबकि पुलिस का कहना है छात्र को उसी दिन छोड़ दिया गया था। इसलिए उनको उसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। मामले की सुनवाई 22 सितंबर को होगी।