ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
ग्रामीणों के विरोध प्रदर्शन के बाद चंदौली के लाल को मिला सम्मान, पूरे राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार
September 8, 2020 • प्रकाश सिंह • वाराणसी-चंदौली



जनसंदेश न्यूज़
धानापुर/चंदौली। थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत मिश्रपूरा अंतर्गत पूरा चेता दुबे ग्राम निवासी कुलदीप कुमार 45 की रविवार को सीमा पर मौत हो गयी थी। जिनका शव मंगलवार को उनके पैतृक गांव पहंुचा। शव पहुंचते ही एक तरफ पूरा गांव शोक में डूब गया। वहीं दूसरी तरफ शहीद जवान को उचित सम्मान मिलता ना देख लोग आक्रोशित हो उठे। लोगों ने शहीद को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दिये जाने की मांग को लेकर चक्काजाम कर दिया और धरना प्रदर्शन करने लगे। 

इसी बीच सपा के प्रदेश प्रवक्ता मनोज काका, राष्ट्रीय सचिव मनोज सिंह डब्लू और सेवानिवृत्व सैनिक अंजनी सिंह सहित सैकड़ों सपाई भी धरना प्रदर्शन का समर्थन करने लगे। मामला बिगड़ता देख प्रशासन ने मोर्चा संभाला और शहीद के परिजनों को समझा-बुझाकर शांत कराया। जिसके बाद शहीद जवान का पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। 

जवान का शव देख परिजन हुए बेहाल

जवान के शव को देखते ही शहीद जवान के परिजनों में कोहराम मच गया। उनकी माँ दुलारी देवी व पत्नी ममता देवी सहित पुत्र मिलन एवं संगम का रो रोकर बुरा हाल हो गया। किसी तरह आस पास के लोगो और रिश्तेदारों ने उन लोगों शांत कराने की कोशिश की पर पत्नी और माँ बार-बार गश्त खा कर जमीन पर गिर जा रही थी। गांव सहित क्षेत्र के लोगों की भीड़ जवान के अन्तिम दर्शन के लिए उनके घर पर जुटी रही। इसके बाद अमादपुर घाट पर राजकीय सम्मान के साथ उनका अन्तिम संस्कार कर दिया गया।

1995-96 में सेना में हुए थे भर्ती

विदित हो कि कुलदीप कुमार 1995-96 में सेना में भर्ती हुए थे, जो वर्तमान में जम्मू कश्मीर के राजौरी सेक्टर में कार्यरत थे। रविवार को दस बजे मोबाइल पर सेना के एक अधिकारी ने कुलदीप के मौत की सूचना उनके परिजनों को दी थी। कुलदीप कुमार के अंतिम संस्कार में क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों सहित गांव और क्षेत्र के लोगों की भीड़ घाट पर उमड़ी रही।