ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
गांव में घुसा छह फीट लंबा मगरमच्छ, हड़कंप, पुलिस आई न वन विभाग, युवाओं ने दिखाया अदम्य साहस 
August 23, 2020 • रोशन जायसवाल • कानपुर-गोरखपुर



जनसंदेश न्यूज़
बैरिया/बलिया। तहसील क्षेत्र के घाघरा नदी में आई बाढ़ के चलते पहले से ही परेशान तटवासियों के उपर अब मगरमच्छ का खतरा मंडराने लगा है। बीती रात गंगापुर गांव में छह फीट लंबा मगरमच्छ के घुस आने से गांव में हड़कंप मच गया है। ग्रामीणों द्वारा पुलिस और वन विभाग को सूचना तो दी गई, लेकिन किसी ने मौके पर पहुंचना मुनासिब नहीं समझा। 
इसके बाद ग्रामीणों ने डायल 112 पर सूचना दिया, पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन विशालकाय मगरमच्छ देख खिसक लिए। अंततः गांव के ही छह बहादुर दोस्तों की टीम ने मगरमच्छ को काबू में किया और जाल में फंसाकर पेड़ में बांध दिया। इस दौरान मगरमच्छ को देखने के लिए लोगों की अच्छी-खासी भीड़ जुट गई। जो सेल्फी लेने में मगन दिखे।   

हुआ यूं कि गंगापुर गांव के ही एक व्यक्ति शनिवार की रात लगभग दो बजे अपने मक्के और गोभी के खेत की रखवाली करने के लिए मचान पर सोए थे तभी उनकी नजर मगरमच्छ पर पड़ी। इसके बाद उन्होंने शोर मचाया, जिस पर मौके पर सैकड़ों की संख्या में लोगों की भीड़ जुट गई। इसबीच किसी ने इसकी सूचना पुलिस को दी, पुलिस ने मौके पर वन विभाग के अधिकारी तथा कर्मचारी को भेजने की बात कही, लेकिन कोई नहीं आया। तब जाकर गांव के ही बहादुर युवक अनिल वर्मा, आकाश वर्मा, धीरज, सुनील, गौतम, विपिन ने अदम्य साहस का परिचय देते हुए मगरमच्छ को जाल में फंसाकर काबू में कर लिया।  

बहादुरों को मिला नकद इनाम
बैरिया। नगर पंचायत बैरिया के अध्यक्ष प्रतिनिधि शिवकुमार वर्मा उर्फ मंटन ने गंगापुर पंचायत पहुंचकर मगरमच्छ पकडने वाले 6 दोस्तों की बहादुरी पर शाबासी देते हुए 12 हजार रुपये का पुरस्कार दिया। वहीं गंगापुर मौजा के ग्राम प्रधान प्रतिनिधि दीनदयाल प्रसाद ने मगरमच्छ पकडने वाले बहादुर दोस्तों को 5 हजार रुपये का पुरस्कार दिया। 

इस संबंध में ग्राम सभा गंगापुर के ग्राम प्रधान दीनदयाल प्रसाद की मानें तो 6 फीट का यह मगरमच्छ बगल के सरयू नदी से निकल कर गांव में घुस आया। जिसे गांव के लोगों ने पकड़ा है। मगर प्रशासन को  खबर देने के बाद भी कोई यहां नहीं आया।

वहीं उप जिला मजिस्ट्रेट बैरिया सुरेश कुमार पाल ने कहा कि ग्रामीणों द्वारा मगरमच्छ पकड़ने की सूचना पर सुबह 7 बजे पहुंचे एसडीएम सुरेश पाल की मानें तो वन विभाग की टीम पहुंच गयी है। मगरमच्छ को वन विभाग को सुपुर्द कर दिया गया है। गांव के युवकों ने सराहनीय कार्य किया है। वन विभाग द्वारा लापवाही बरतने को लेकर इनके खिलाफ डीएम को रिपोर्ट भेज रहा हूं। क्योंकि मेरा फोन भी ये लोग ठीक से नहीं उठाते हैं।