ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
गाजीपुर में पॉजीटिव व कोरोना संदिग्ध होम्योपैथिक डाक्टर सहित दो की मौत, मचा हड़कंप, फिर मिले नये मरीज
June 21, 2020 • अजय सिंह उर्फ राजू • इलाहाबाद


तीन नए मरीज मिलने के बाद संख्या पहुंची 282 

कोरोना संक्रमित दो की मौत से स्वास्थ्य विभाग हलकान

विकराल होती स्थिति के बावजूद स्वास्थ्य विभाग लापरवाह, नहीं सुरक्षा के इंतजाम 

जनसंदेश न्यूज 
गाजीपुर। जिले में कोरोना से दो की मौत के बाद जिला प्रशासन हलकान है। हालांकि जिन दो लोगों की मौत हुई है, उसमें एक की रिपोर्ट पॉजीटिव आ चुकी है, जबकि दूसरे की रिपोर्ट का इंतजार है। दूसरा मरीज होम्योपैथ का डाक्टर बताया जा रहा है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने ऐहतियात के तौर पर गांव को सील कर मृतकों के घरों को सेनेटाइज कर दिया है, इसके साथ ही 37 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेज दिये गये है। 
बता दें कि एक दिन पूर्व हुई संदिग्ध कोरोना संक्रमित मरीज की मौत के बाद आई उसकी जांच रिपोर्ट में उसके कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। जो कि जिले में कोरोना से पहली मौत है। बीएचयू से आई जांच रिपोर्ट में मृतक के कोरोना संक्रमित की पुष्टि होने के बाद जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग में हडकंप मच गया है। वही दूसरी तरफ तमाम कवायदों के बाद भी जिले में कोरोना मरीजों का दायरा बढ़ता ही जा रहा है। रविवार को कोरोना के तीन नये मरीज मिले। जिससे संख्या बढ़कर 282 पहुंच चुकी है।

मौत के बाद रिपोर्ट आई पॉजीटिव
करंडा के सिकन्दरपुर तथा बाराचवर के देहन्दू के दो युवक की मौत विगत 18  तथा 19 जून को ही हो गई थी। सूत्रों की माने तो मृतक कोरोना की इलाज के बजाय झाड़-फूंक में लग गये। जिससे उसकी जान चली गई है। मृतक बीएचयू में सैंपल देने के बाद वहां भर्ती होने से ठीक पहले भाग निकला था। शनिवार को बीएचयू से रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची तो मौत के बाद दाह संस्कार की जानकारी हुई। प्रशासन बहरियाबाद में भी झाड़फूंक करने वाले बाबा की तलाश की जा रही है। 

कोरोना संदिग्ध होम्यापैथिक डाक्टर की मौत
दूसरा बाराचवर के देहन्दू का निवासी होम्योपैथिक डाक्टर को सांस की शिकायत थी। जिसके बाद उसे इलाज के जिला अस्पताल आया जहां से वाराणसी रेफर कर दिया गया, उसकी रास्ते मे ही मौत हो गई। रात प्रशासन की देखरेख में शमसान घाट पर दाह संस्कार कर दिया। मरीज कोरोना संदिग्ध बताया जा रहा है, प्रशासन के इसकी रिपोर्ट का इंतजार है। इसके बावजूद ऐहतियातन प्रशासन ने उन गांवों तथा मृतकों के घरों को सेनेटाइज कर दिया। पुलिस ने मृतक के घर से 37 लोगों की सैंपल जांच के लिए भेजा है। रविवार को कासिमाबाद एसडीएम रमेश मौर्या, बरेसर एसओ संजय कुमार मिश्रा तथा स्वास्थ्य विभाग तथा फायर ब्रिगेड की टीम देहन्दू गांव पहुंच कर मृतक के घर को सेनेटाइज किया गया। 

रविवार को मिले तीन नये संक्रमित
रविवार को भी नए तीन मरीज मिलने से प्रशासन में अफरा तफरी मची हुई है।  जिले के स्वास्थ्य अधिकारी के अनुसार इन सभी मरीजों को इलाज के कोविड हास्पिटल मुहम्मदाबाद में भर्ती कराया गया है। वही सबसे अधिक खतरनाक ग्रामीण क्षेत्रों में जहां लगातार संक्रमण का खतरा बढ़ते जा रहा है। जो सभी के लिए चिंता का विषय है। जिले में नौ मई के बाद जो स्थिति बनी है, वह काफी विकराल है। कोरोना नोडल प्रभारी स्वतंत्र सिंह ने बताया कि जिले में सादात के सरदरपुर, सैदपुर स्थित खानपुर के अमेदा तथा देवकली के खानकाह कला में एक-एक मरीज मिले हैं। जिनको कोविड हॉस्पिटल मुहम्दाबाद में भर्ती कराया गया है।