ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
गाजीपुर में कोरोना पर नहीं लग रही लगाम, सिर्फ 48 घंटे में 115 नए मामले आए सामने
August 16, 2020 • जनसंदेश न्यूज • इलाहाबाद

आंकड़ा पहुंचा 2100 के पार, 15 मरीजों की हो चुकी है मौत


जनसंदेश न्यूज़
गाजीपुर। जिले में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। हर आए दिन नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के नए केस सामने आ रहे हैं। अब इस वायरस ने जिले के उन इलाकों को भी अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है जो अभी तक इस बीमारी से दूर थे।

जिले में शनिवार और रविवार तक कोरोना वायरस संक्रमण के 115 नए मामले सामने आए। इसी के साथ जिले में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2107 हो गई। इस घातक वायरस से अब तक यहां 15 लोगों की मौत हो चुकी है। जिला नोडल अधिकारी ने बताया कि रविवार को कोविड-19 कि आई जांच रिपोर्ट में 55 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। जनपद के विभिन्न अस्पतालों में 624 मरीज उपाचाराधीन है। पिछले 24 घंटों में उपचार के बाद स्वस्थ हुए 75 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। 

इसी के साथ यहां स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 998 हो गई है। कोरोना वायरस की वजह से जनपद में अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है। विभागीय आंकड़ों के मुताबिक अब तक 45101 सैंपल लिए गए है। जिसमें 41038 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जबकि 1956 लोगों की रिपोर्ट पेंडिंग है। स्वास्थ्य विभाग हॉटस्पॉट और संक्रमण की संभावना वाले क्षेत्रों में कैंप लगाकर लोगों की स्क्रीनिंग व जांच कर रहा हैं। जिला नोडल अधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमित को रोकने के लिए जहां पर मरीज पाए जा रहे हैं उन जगहों को निषिद्ध इलाके के रूप में घोषित किया जा रहा है। 

कोरोना पॉजीटिव अपने संपर्क में आनेवाले हर पांचवें व्यक्ति को बांट रहे बीमारी का संक्रमण

गाजीपुर। जिले के पॉजिटिव मरीज अपने संपर्क में आनेवाले हर 5वें व्यक्ति को कोरोना बांट रहे हैं। पॉजिटिव मरीजों के कांटैक्ट लिस्ट के अनुसार सैंपल जांच कराने पर रिपोर्ट में यह आंकड़ा सामने आया है। इसे रोकने के लिए विभाग कई स्तरों पर काम शुरू करने की योजना बना रहा है। विभाग के आंकड़े के अनुसार जिले में अब तक करीब 2100 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। 

चिकित्सक भी मानते हैं कि कोरोना पॉजिटिव लोग दूसरे को संक्रमित कर रहे हैं। इनमें अधिकतर उनके परिवार के लोग व सगे-संबंधी ही शामिल हैं। पॉजिटिव मरीज अगर सावधानी बरतें तो जिले में कोरोना मरीजों के बढ़ने की रफ्तार कम हो सकती है। लेकिन, ग्रामीण क्षेत्रों में तो होम क्वारेंटाइन में रह रहे लोग बाहर घूमने के साथ-साथ परिवार के लोगों के बीच भी रह रहे हैं। ऐसे में मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही हैं।