ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
गाजीपुर में कोरोना का प्रकोप कायम, तीन और मिले संक्रमित, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अब रेलवे भी
June 29, 2020 • अजय सिंह उर्फ राजू • जौनपुर-गाजीपुर


नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से फैलाता जा रहा प्रकोप

जनसंदेश न्यूज़
गाजीपुर। कोरोना वायरस का संक्रमण नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से अपनी जड़ें फैलाता जा रहा है। सोमवार को 24 घंटे के अंदर तीन कोरोना के नए मरीज सामने आए हैं। इसके साथ ही संक्रमितों की संख्या बढ़कर 328 पहुंच गई है। जबकि, कोरोना से संक्रमित तीन व्यक्तियों की मौत भी हो चुकी है।
जिले में वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। कई नए इलाकों में वायरस ने दस्तक दे दी है। इसके चलते इन इलाकों को कंटेनमेंट जोन बनाने का फैसला लिया गया है। जिले में 24 घंटे के दौरान तीन लोगों में संक्रमण मिला है। वही कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 328 हो गई है। इसमें तीन की मौत हो चुकी है। जबकि 280 स्वस्थ होकर अपने घर चले गए हैं। वर्तमान में एक्टिव मरीजों की संख्या 45 हो गई है। इस संबंध में जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड के नोडल डा. स्वतंत्र सिंह ने बताया कि रविवार की देर रात दो और सोमवार को तीन कोरोना संक्रमित की रिपोर्ट पाज़िटिव आई है। जिसमे आमघाट कालोनी के दो और कालीनगर कालोनी के एक व्यक्ति शामिल है। जिन्हें नगर स्थित हास्पिटल में भेजा गया है। उधर जिले में जैसे-जैसे नए मरीजों की संख्या बढ़ रही है, पुलिस प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग की परेशानियां बढ़ रही हैं। शुरुआती दौर में यहां के मरीजों को वाराणसी भेजा जाता रहा। वहां के अस्पताल में बने कोविड वार्ड में गाजीपुर के मरीजों का भी इलाज हुआ। जब कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी तो फिर जौनपुर में इलाज की व्यवस्था हुई। उसके बाद मुहम्मदाबाद कोविड-19 अस्पताल में भर्ती करवाया गया। अब नगर के हास्पिटल में ही रखा जा रहा है।

रेल कोच तैयार, 160 कोरोना मरीजों का होगा इलाज
गाजीपुर। कोविड-19 से निपटने के लिये रेलवे भी इस संघर्ष में जुट गया है। साधारण कोचों को कोविड केयर सेंटर के रूप में परिवर्तित करने के लिए कोचों में आवश्यक बदलाव कर तैयार कर दिया है। रेलवे द्वारा कोविड के दृष्टिगत अपने कोच में कुछ बदलाव किये गये हैं, ताकि यह कोच कोविड मरीजों के उपचार में प्रयोग आ सकें। स्टेशन पर कोविड केयर रेक में 10 जनरल कोच लगाए गए हैं। प्रत्येक कोच में 16 मरीज भर्ती किये जा सकते है। इस प्रकार से 10 कोच में 160 मरीज भर्ती किये जा सकेंगे। 5 कोच के बाद 1 एसी कोच होगा एवं उसके आगे फिर 5 कोच होंगे। एसी कोच चिकित्सक, नर्स एवं अन्य स्टाफ के लिए है। मालूम हो कि भारतीय रेलवे ने कोरोना मरीजों में वृद्धि को ध्यान में रखते हुए दो महीने पहले से ही विभिन्न स्थानों पर रेलवे के गैर वातानुकूलित डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड में बदलना शुरू कर दिया था।