ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश कोविड-19/देश-विदेश मनोरंजन/लाइफस्टाइल
एक ही गांव के दो युवतियों को सर्प ने डसा, एक को तीन बार तो दूसरे को दौड़ा कर किया शिकार
July 9, 2020 • जनसंदेश न्यूज • इलाहाबाद


जनसंदेश न्यूज़
दुल्लहपुर/गाजीपुर। क्षेत्र के छतरमा स्थित गांव में उस वक्त मातम फैल गया।  जब दो लोगों को सर्प काटने का मामला सामने आया। उसमें एक की मौत हो गई। दूसरी अमवा के सती धाम जाकर बच गई। 
बता दें कि छतमा गांव में गुड़िया कुमारी 19 वर्ष पुत्री मानिक चंद्र गौड़ मंगलवार की देर शाम घर के आंगन में मसाला पीस रही थी। ईट रखी हुई दीवार से सर्प ने तीन बार काटा। जिसके बाद काफी ब्लड बहने लगा। तुरंत परिजनों ने गुड़िया को लेकर अमवा के सती धाम ले जा रहे थे। तभी रास्ते में दम तोड़ दिया। गुड़िया  का हाल ही में मऊ जिले में शादी तय हुई थी। सगाई का रस्म में भी हो चुका था। लेकिन होनी को कौन टाल सकता है। गुड़िया के मौत के बाद माँ मंशा देवी सहित भाई बहनों का रो-रो कर बुरा हाल था। लोगों ने भवरहा बिरनो से सर्प पकड़ने वाले को बुलाया। तो सपेरे ने सरसों घर में छिड़कते ही सर्प निकला तत्काल उसे पकड़ कर जंगल मे छोड़ दिया। उसी गांव में माधुरी देवी 30 वर्ष पत्नी सन्तोष राजभर ,सुबह 5 बजे शौच के लिए निकली थी। लौटते वक्त सर्प ने पीछा किया। जैसे ही माधुरी की नजर सर्प पर पड़ी भागने लगी, लेकिन सर्प ने  मेढ़ी दौड़ाकर काट लिया। चीख पुकार सुनकर परिजनों ने दौड़कर माधुरी को तत्काल अमवा सती धाम ले गए जहाँ बच गयी। 1वर्ष पूर्व उसके बच्ची को सर्प काटा था। लेकिन बच गयी।