ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
एक ही चिता पर जले पति-पत्नी, मुखाग्नि दे रहे पिता के करूण कद्रन से रो पड़ा पूरा गांव
June 21, 2020 • अनूप मिश्रा • इलाहाबाद



जनसंदेश न्यूज़
प्रयागराज। दिल्ली से प्रयागराज कार से आ रहे शनिवार की काली सुबह रूबी-रविनेश और बेटा लक्ष्य पर भारी पड़ गया। एक झटके में तीनों क्रूर काल के गाल में समा गये। यही नहीं साथ में सफर कर रही बड़ी साली और उसके दो बच्चे भी घटना के शिकार बने। जहां पूरे विश्व में रविवार को फादर्स डे के रूप में मनाया गया। वही पिता ने अपने बेटे व बहू को मुखाग्नि दी।
आपको बताते चलें कि शनिवार की सुबह आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर एक्सीडेंट हुआ। उस दौरान साली प्रियंका (45) कार से छिटक कर बाहर गिर गई, जिससे वह बच गई, लेकिन उसके दोनों बच्चे नंदिनी (7) और केशव (17) मौसी-मौसा के साथ काल की भेंट चढ़ गये। शनिवार सुबह जैसे ही हृदयविदारक मनहूस खबर गोसौरा, बिसहिजन और बभनी हेठार, माण्डा पहुंची, तीनों गांवों में सन्नाटा पसर गया। शनिवार सुबह जैसे ही गोसौरा में तीन शव पहुंचे परिजनों के करुणक्रंदन से ग्रामीणों के भी आंखों से आंसू बह निकले। सुबह तीनों शवों का अंतिम संस्कार नम आंखों से सिरसा के छतवा घाट पर किया गया। इसी तरह बभनी हेठार पहुंचे दोनों शवों का अंतिम संस्कार स्थानीय गंगाघाट पर किया गया।