ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
एक-दो नहीं तीन-तीन मौतों के बाद भी कुंभकर्णी नींद सो रहा बिजली विभाग, जर्जर तार हादसों को दे रहे दावत!
September 15, 2020 • जनसंदेश न्यूज • कानपुर-गोरखपुर


जनसंदेश न्यूज़
महोली/सीतापुर। लाखों रूपया फूंकने के बाद बिजली विभाग भगवान भरोसे है। जर्जर लाइनों को सुधारने की फिक्र न तो विभाग के जिम्मेदारों को है और न ही प्रशासनिक अधिकारियों को। जिले में सडे़ गले तारों के टूटने से हाल ही में तीन मौते हो गयी। बावजूद इसके विभाग कुम्भकर्णी नींद से नही जाग पा रहा। 

यही हाल कमोवेश महोली नगर का है। जहां जीटी रोड के किनारे बडागांव तिराहे से 11 हजार की लाइन बगैर किसी गार्डिग के धडल्ले से चल रही है। पूरा का पूरा बाजार इसी लाइन के नीचे व्यापार कर रहा है। कई बार लोगों ने बिजली विभाग के अधिकारियों को इस ओर ध्यान दिलाया, लेकिन मामला जस का तस रहा। 

हो सकता है बिजली विभाग को किसी बड़े हादसे का इंतजार हो। आये दिन तेज धमाके के साथ तारो के टूटने का सिलसिला लगभग रोज होता है। इस दौरान लोग इधर उधर भागकर अपनी जान बचाते है, लेकिन उन्हीं जर्जर तारों में जोड़ तोड़ कर लाइन चला दी जाती है। विभाग के जिम्मेदार कमरों में बैठकर अपनी जिम्मेदारी का कोरम पूरा कर रहें है। उन्हें हकीकत से मुँह मोड़ने की आदत सी बन गयी है। लेकिन विभाग के जिम्मेदारों की अनदेखी से नगर में कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।