ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
चंदौली में छह सदस्यीय टीम करेगी मानव रक्त तस्करी की जांच, डीएम ने अपनाया सख्त रूख
July 7, 2020 • जावेद अंसारी • वाराणसी-चंदौली


डीएम के निर्देश पर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की टीम का गठन

जनसंदेश न्यूज़
चंदौली। जनपद में अवैध मानव रक्त व्यापार का मामला सामने आते ही जिला प्रशासन सख्त हो गया है। जिला प्रशासन अब इससे जुड़े लोगों की तलाश में जुट गया। मंगलवार को जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने इस प्रकरण की जांच के लिए छह सदस्यीय टीम का गठन किया है। इस छह सदस्यीय टीम में पुलिस व प्रशासनिक विभाग के लोग शामिल है। आपकों बता दें कि पुलिस इस मामले में पहले ही पांच लोगों को जेल भेज चुकी है। जिसमें स्वास्तिक हॉस्पिटल के संचालक सहित अन्य लोग शामिल 
ज्ञातव्य हो कि विगत शनिवार को चेकिंग के दौरान पुलिस ने बाइक सवार दो संदिग्धों को हिरासत में लेकर तलाशी ली तो उनके पास से दो पैकेट में अवैध मानव रक्त बरामद हुये। संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद जनपद में मानव रक्त तस्कर के अवैध व्यापार की परत दर परत खुलने लगी। गिरफ्तार अभियुक्तों के पूछताछ के बाद रविवार को स्वास्थ्य विभाग व पुलिस की टीम ने अवैध मानव रक्त के कारोबार में लिप्त स्वास्तिक हॉस्पिटल व वैभव पैथोलॉजी पर शिकंजा कसा। 
प्रशासनिक और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने पुलिस के साथ अवैध ब्लड कारोबार में लिप्त स्वास्तिक हॉस्पिटल और वैभव पैथोलॉजी सेंटर को सील कर दिया। वहीं सोमवार को हॉस्पिटल संचालक, मैनेजर और पैथोलॉजी सेंटर के संचालक को जेल भेज दिया गया था। इस मामले में दो बाइक सवार पहले ही जेल भेजे जा चुके थे। 
जनपद में अवैध मानव तस्करी का मामला सामने आने पर डीएम ने सख्त रूख अपनाया। मंगलवार को डीएम नवनीत सिंह चहल के निर्देश पर प्रकरण की जांच के लिए छह सदस्यीय अधिकारियों की टीम गठित की गई है। वहीं पुलिस अन्य लोगों के लिप्त होने के दिशा में छानबीन कर रही है। इस सम्बंध में कोतवाल गोपाल गुप्ता ने कहा कि अवैध ब्लड कारोबार प्रकरण में हॉस्पिटल और पैथोलॉजी सेंटर की जांच के लिए टीम गठित की गई है। वहीं कुछ अन्य संदिग्धों के संलिप्तता सामने आई है। इस दिशा में कार्य किया जा रहा है।