ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
चंदौली में छात्र ने सीबीएसई रिजल्ट में कम नंबर आने पर तीन बार कॉपी जांचने को किया आवेदन, जिसके बाद.......
August 22, 2020 • आरिफ हासमी • वाराणसी-चंदौली

तीन बार में छात्र का नंबर तीन प्रतिशत बढ़ा

विद्यालय के प्रिंसपल ने बताया बोर्ड की लापरवाही

कहा, इस तरह के परिणाम से बच्चें हो जाते है होपलेस

जनसंदेश न्यूज़
चहनियां/चंदौली। इसे सीबीएससी बोर्ड की लापरवाही कहे या फिर कुछ और कि सेंट जोसेफ स्कूल के छात्र आर्यन जायसवाल का रिजल्ट कम आ गया। जब उसने कॉपी फिर से जांचने की आवेदन किया तो उसका 13 नम्बर बढ़ा दिया गया। तीन बार में जांची गई कॉपी से छात्र नंबर लगभग 3 प्रतिशत बढ़ गया।

सेंट जोसेफ विद्यालय में पढ़ने वाले हाईस्कूल के छात्र आर्यन जायसवाल पुत्र ईश्वर चंद जायसवाल का 13 जुलाई को सीबीएससी बोर्ड का रिजल्ट 93.6 प्रतिशत आया। साइंस में अव्वल छात्र का नम्बर कम आने पर शंका हुई तो 20 जुलाई को  कापी जांचने के लिए अप्लाई किया। 3 अगस्त को उसको रिजल्ट की फोटो कापी लेटर मिला जिसमे 1 नम्बर बढ़कर मिला। 4 अगस्त को पुनः कॉपी जांचने के आवेदन किया। 7 अगस्त को बोर्ड आफिस से फोटो कॉपी भेजे। 

10 अगस्त को पुनः जांचने के लिए आवेदन किया। तीन बार अप्लाई के बाद पुनः कापी जांचा गया तो 20 अगस्त को 96.6 प्रतिशत में 13 नम्बर बढ़ाकर रिजल्ट भेज दिया। शिक्षा विभाग में सीबीएससी बोर्ड की कारस्तानी से छात्रों का भविष्य अधर में है। प्रिंसिपल अनिल कुमार झा ने कहा कि इस तरह की रिजल्ट से अच्छे छात्र होपलेस हो जाते है । जो आत्महत्या जैसे भी कदम उठाते है। इसकी शिकायत उच्चाधिकारियो को पत्र के माध्यम से किया जायेगा।