ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
चंदौली के लाल कुलदीप के शहादत को लेकर रक्षामंत्री राजनाथ से मिले पूर्व विधायक, सौंपा पांच सूत्रीय ज्ञापन
September 13, 2020 • आरिफ हाशमी • वाराणसी-चंदौली

नई दिल्ली में राजनाथ सिंह से सपा के राष्ट्रीय सचिव मनोज सिंह डब्लू


जनसंदेश न्यूज़
चंदौली। सपा के राष्ट्रीय सचिव व पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू ने रविवार को नई दिल्ली में केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने शहीद कुलदीप कुमार मौर्य के मौत के प्रकरण को उठाया। मांग किया कि कुलदीप को शहीद का दर्जा देने के साथ-साथ परिवार की मांगों को पूरा किया जाए। इसके बाद उन्होंने रक्षामंत्री को पांच सूत्रीय मांग पत्र सौंपा। वहीं रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने अपने जिले की उक्त मांग पर गंभीरता से विचार करते हुए शहीद के परिजनों को पूरा सम्मान देने का भरोसा दिया। 

इस दौरान सपा के राष्ट्रीय सचिव ने कहा कि गत आठ सितंबर को जनपद के शहीदी धरती धानापुर में एक अजीबोगरीब घटना घटी। जम्मू के पूंछ के राजौरी सेक्टर में सूबेदार के पद पर तैनात पुरा चेता दूबे (पुरवां) निवासी कुलदीप कुमार मौर्य के निधन के बाद शव एंबुलेंस से धानापुर शहीद स्मारक पहुंचा। इसके बाद शहीद के परिजनों व स्थानीय ग्रामीणों ने सेना की इस कार्य प्रणाली पर आक्रोश व्यक्त किया। क्योंकि एंबुलेंस के साथ सेना का कोई भी वाहन नहीं भेजा गया था। मात्र दो सैनिक एंबुलेंस के साथ शव को परिजनों के सिपुर्द करने के लिए आए थे। 

मनोज सिंह डब्लू ने शहीद के परिजनों के प्रतिनिधि के रूप में यह मांग है कि मृतक कुलदीप कुमार मौर्य को शहीद का दर्जा दिया जाय। परिवार के एक सदस्य को अनुकंपा के आधार पर सरकारी नौकरी दी जाए। साथ ही परिवार को हुई इस अपूरणीय क्षति की प्रतिपूर्ति हेतू उचित मुआवजा राशि मुहैया करायी जाय। कहा कि सैनिक कुलदीप कुमार मौर्य के पोस्टमार्टम रिपोर्ट से शहीद के परिजन असंतुष्ट है। इस मामले की उच्च स्तर पर जांच करायी जाय। कहा कि शहीद का वाराणसी में सम्मान न होना और शव को सेना के वाहन की बजाय एंबुलेंस से भेजे जाने से शहीदी धरती धानापुर की लोगों में जबरदस्त आक्रोश है। ऐसा क्यों और किसके आदेश पर हुआ, उसकी जांच होनी चाहिए।