ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
चकिया के इस प्राथमिक विद्यालय की शिक्षिका को मिला दो-दो पुरस्कार, एबीएसए व शिक्षकों ने दी बधाई
September 7, 2020 • जनसंदेश न्यूज • वाराणसी-चंदौली

टीचर्स आइकॉन अवार्ड सहित दोहरा अवार्ड पाकर चन्दौली का नाम रोशन किया

जनसंदेश न्यूज़
चकिया/चंदौली। ब्लाक संसाधन केन्द्र के प्राथमिक विद्यालय बियासड़ की सहायक अध्यापिका रीता पाण्डेय को टीचर्स आइकॉन अवार्ड 2020 से सम्मानित किया गया। शिक्षिका को यह सम्मान उनकी विभिन्न नवाचारी गतिविधियों के लिए शिक्षा, कला, संस्कृति, भाषा व ज्योतिष क्षेत्र में काम करने वाली संस्था डॉ. यादवेन्द्र नाथ मैमोरियल ट्रस्ट ने दिया। शिक्षा के क्षेत्र में चंदौली की शिक्षिका को मिले इस पुरस्कार के बाद पूरे जनपद के शिक्षक गौरवान्वित है। 

गौरतलब है कि इस अवार्ड के लिये विभिन्न राज्यों से प्राथमिक से लेकर उच्च शिक्षा विभाग के लगभग पौने पाँच हजार आवेदन दिये गये थे। जिसमें चन्दौली जैसे महत्वाकांक्षी जनपद से शिक्षिका का चयन होने से पूरा जनपद गौरवान्वित है। 
आपको बता दें कि रीता पाण्डेय को पहले भी अपने नवचारी शिक्षण के लिये उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन द्वारा तत्कालीन एसडीएम दीप्ति देव यादव के द्वारा नवाचारी शिक्षक के रूप में सम्मानित किया जा चुका है। विगत वर्ष जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने खेलकूद, योगा और स्काउट गाइड में अपने विशिष्ट योगदान  के लिये प्रशस्ति पत्र दिया जा चुका है और इस बार नवाचारों के लिये राष्ट्रीय स्तर पर चयन होने से जनपद के शिक्षकों में खुशी की लहर है। 

पुरस्कार प्राप्त करने के बाद रीता पाण्डेय ने कहा कि वर्तमान समय में जिस तरह के शैक्षणिक क्रियाकलापों और जिस तरह से अद्यतन जानकारी और कौशल की जरूरत है, उसे सिर्फ परम्परागत तरीके से नहीं सिखाया जा सकता बल्कि जरूरत है ऐसे नवाचारी विधियों की जिससे बच्चे कम समय में ज्यादा चीजों को रुचिपूर्ण ढंग से सीख सकें और वह ज्यादा समय तक प्रभावी हो साथ ही आज की जरूरत के हिसाब से कौशल विकसित हो सके। वर्तमान में सरकार तो ऐसे क्रियाकलापों-गतिविधियों और नवाचारी शिक्षण विधियों पर ध्यान दे ही रही है। 

खंडशिक्षाधिकारी चन्द्रशेखर आजाद ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि रीता पाण्डेय के इस तरह के प्रयासों और कुशल लीडरशिप (इंचार्जशिप) में और अन्य शिक्षकों के टीमवर्क के वजह से प्राथमिक विद्यालय बियासड़ को विभिन्न शैक्षणिक एवं शिक्षणेत्तर गतिविधियों में अच्छे प्रदर्शन के लिये हिंदी मीडियम के मॉडल विद्यालय के रूप में चुना गया है।

इनरव्हील डिस्ट्रिक्ट 312 ने भी किया सम्मानित 
शिक्षिका रीता पाण्डेय को दोहरी खुशी मिली जब इनरव्हील क्लब-डिस्ट्रिक्ट 312  जिसमें कि लखनऊ, इलाहाबाद और वाराणसी के लगभग डेढ़ सौ क्लब आते हैं, उसने समाज के लिए किए जा रहे कार्यों और शिक्षा में योगदान के लिए कर्मठ शिक्षक पुरस्कार से नवाजा। गौरतलब है कि रीता पाण्डेय शिक्षिका होने के साथ साथ महिलाओं की अंतर्राष्ट्रीय संस्था इनरव्हील क्लब में सोनांचल चकिया की अध्यक्षा भी हैं और गरीब और बेसहारा व्यक्तियों खासकर महिलाओं और बालिकाओं के विभिन्न जरूरतों में सहायता और अधिकारों की रक्षा के लिए भी कार्य करती हैं और उनके शिक्षिका के तौर पर उत्कृष्ट सेवा के रूप में उन्हें यह पुरस्कार दिया गया।