ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
चाचा-भतीजा की एक साथ मौत बनी चर्चा का विषय, परिजनों में कोहराम
September 6, 2020 • अजय सिंह उर्फ राजू • इलाहाबाद



जनसंदेश न्यूज़
सादात/गाजीपुर। डोरा ग्राम सभा  यादव बस्ती निवासी तिलकधारी यादव (85) और भतीजा गजनू यादव (72) की एक घंटा के अंदर हुई मौत चर्चा का विषय बनी हुई है। दोनांे की मौत से पूरे बस्ती मे कोहराम मच गया। यह दोनों लोग अलग अलग घर के जरूर थे लेकिन प्रतिदिन एक साथ बैठना उठना और हालचाल करना उनकी रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बन गया था। एक दूसरे को बिना देखे दोनों को चैन नही आता था। 

इसे संयोग कहिए या विधि का विधान। चाचा तिलकधारी हार्ट के मरीज थे। उन्हें दस रोज पहले वाराणसी के एक अस्पताल मे भर्ती कराया गया था। जहा डॉक्टरों के जवाब देने के बाद शुक्रवार को घर ला दिया गया। इस बीच भतीजा गजनू की भी तबीयत खराब हुई और उन्हे भी वाराणसी भर्ती कराया गया। उन्हें भी डाक्टरों ने जवाब दे दिया। शनिवार को उन्हें भी घर लाया गया।

रविवार को दिन में दो बजे चाचा और तीन बजे भतीजा की मौत हो गई। दोनों लाशें एक साथ उठते देखकर लोग शोक में डूब गये। इन दोनों के आपसी प्रेम को देखकर गांव के लोग अक्सर कहा करते थे कि इन दोनों की जोड़ी अटूट है। यह दोनों लोग एक साथ  ऊपर भी जाएगे। वह बात आज सच निकली। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि डा अनिल राय मौके पर उपस्थित होकर परिवार के लोगो को ढांढ़स बधाया । इन दोनों की मृत्यु पर गहरा शोक प्रकट किया ।