ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
बिजली विभाग के अधिशासी अभियंता कार्यालय पर जमकर हंगामा, अधिकारी व मजदूर संगठन के पदाधिकारी आपस में भिड़े
August 14, 2020 • जनसंदेश न्यूज • वाराणसी-चंदौली


जितेन्द्र श्रीवास्तव
वाराणसी। नगर के विद्युत वितरण मंडल प्रथम के चतुर्थ खंड के अधिशासी अभियंता कार्यालय में शुक्रवार को जमकर हंगामा हुआ। अधिशासी अभियंता चंद्रेश उपाध्याय और वार्ता करने पहुंचे विद्युत मजदूर संगठन के पदाधिकारियों का एक-दूसरे पर हाथापाई और गाली-गलौज का भी आरोप है। घटना के बाद दोनों पक्ष एमडी कार्यालय पहुंचे और शिकायती पत्र सौंपा। कार्यालय में करीब घंटे भर अफरा-तफरी का माहौल रहा।

अधिशासी अभियंता चंद्रेश उपाध्याय के मुताबिक विद्युत मजदूर संगठन के पदाधिकारी अपनी समस्याओं को लेकर आये थे। समस्याओं के निस्तारण के लिए वार्ता होनी थी। कोरोना संकट को देखते हुए केवल पांच लोगों को बुलाया गया था लेकिन डेढ़ सौ लोग पहुंचे थे। कार्यालय में पांच से 10 लोगों को आने के लिए कहा गया लेकिन करीब 40 लोग आ गये। आपत्ति जताने पर शोर-शराबा करने लगे। गाली-गलौज के बाद हाथापाई पर उतारू हो गये। 

उधर संगठन के पूर्वांचल अध्यक्ष इंद्रेश राय का कहना है कि अभद्र व्यवहार अधिशासी अभियंता की तरफ से की गई। उन्होंने पदाधिकारियों से अभद्र व्यवहार किया। मारपीट की धमकी दी। वार्ता के दस्तावेज फाड़ दिये। बताया कि संविदा कर्मियों के संबंध में वार्ता प्रस्तावित थी। जब पदाधिकारी पहुंचे, उसके पहले ही दफ्तर में अवांछनीयतत्वों को बैठाये हुए थे। पदाधिकारियों ने विरोध किया तो गाली-गलौज शुरू कर दी। वार्ता के कागज भी फाड़ दिये। इसके बाद पदाधिकारी और कार्यकर्ता नाराज हुए। नारेबाजी की गई। कई संविदा कर्मचारियों को नौकरी से निकालने, वेतन काटने, ईपीएफ में फर्म के साथ मिलकर घोटाला आदि मुद्दों पर वार्ता होनी थी।

दोनों पक्ष पहुंचे एमडी कार्यालय
एमडी के बालाजी को फोन से जानकारी दी गई। इसके बाद दोनों पक्षों को भिखारीपुर स्थित कार्यालय बुलाया गया। अधिशासी अभियंता ने बताया कि पूरे घटनाक्रम के साथ शिकायत की गई है। वीडियो फुटेज भी सौंपे गये हैं। उधर संगठन के पदाधिकारी इंद्रेश राय ने बताया कि प्रबंध निदेशक ने फोन कर पूरे मामले की जानकारी ली। दफ्तर बुलाया और सारी समस्याओं के निराकरण की बात कही।