ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
बिहार में काल बनकर हुई बारिश, आकाश से हुए वज्रपात में 83 लोगों की गई जान, मचा कोहराम
June 25, 2020 • जनसंदेश न्यूज • देश-विदेश


जनसंदेश न्यूज़
बिहार। राज्य के कई जिलों में गुरूवार की शाम हुई बारिश काल बनकर बरसी। जिसमें अलग-अलग जिलों से कुल 83 लोग काल के गाल में समा गये। आकाशीय बिजली की चपेट में आने से मरने वालों में सबसे अधिक गोपालगंज में 13 के साथ ही मधुबनी, पूर्वी चंपारण, बेतिया, पश्चिमी चंपारण में 2-2 लोगों की, पूर्णिया और बांका में 1-1 की मौत हुई है। आकाश से बरसे अंगारों में कई लोगों के झुलसने की भी सूचना है। 
बता दें कि राज्य के गोपालगंज जिले में गुरूवार की सुबह से ही भारी बारिश हो रही थी। इसी बीच हुए वज्रपात से 13 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। जिसमें  उचकागांव में चार, मांझा में दो व विजयीपुर, कटेया एवं बरौली में एक-एक शख्स की मौत हो गई। मानसून सीजन होने के कारण कई किसान अपने-अपने खेतों में धान की रोपाई कर रहे थे। इसी दौरान हुए वज्रपात ने इनकी जान ले ली। इसी प्रकार बरौली व मांझा में वज्रपात से झुलसकर जख्मी हुए चार लोगों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। पुलिस ने सभी शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। मृतकों के परिजनों में कोहराम मचा हुआ है।
इसी तरह उत्तर बिहार में भी 4 लोगों मौत हो गई है। जहां पूर्वी चंपारण में नाबालिग बच्ची सहित दो लोग आकाशीय बिजली की चपेट में आ गये। वज्रपात ने पश्चिमी चंपारण के शिकारपुर में विशुनपुरवा तथा मालदा मे भी दो-दो लोगों की जान ली। इस प्रकार बेतिया जिले के शिकारपुर थाना के भसुरारी पंचायत के दो अलग-अलग टोला में बिजली (ठनका) गिरने से दो लोगों की मौत हो गई। मधुबनी के घोघरडीहा में ठनका गिरने से पति-पत्नी की मौत की मौत हो गई।। घटना प्रखण्डक्षेत्र की बेलहा गांव की है। पति पत्नी दोनों खेत में दोनों काम करने के लिए गए थे।