ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
भाभी की बहन से होनी थी शादी, समझाने पर नहीं माना प्रेमी तो युवक ने साले और भाई के साथ मिलकर उतारा मौत के घाट
July 11, 2020 • जनसंदेश न्यूज • बलिया


जनसंदेश न्यूज़
नरही/बलिया। बीते आठ जुलाई को भरौली में हुई हत्या को शनिवार को पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया। पुलिस ने हत्या में शामिल तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया और हत्या में शामिल हथियार बरामद किये। प्रेम प्रपंच के कारण घटना को अंजाम दिया गया।
उपरोक्त घटना के अनावरण हेतु पुलिस अधीक्षक देवेन्द्रनाथ दुबे द्वारा एएसपी के नेतृत्व में पुलिस व स्वाट टीम का गठन किया था। जहां तथ्यों के आधार पर अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस जुटी हुई थी। मुखबिर द्वारा प्राप्त सूचना पर शुक्रवार की देर शाम वीर कुंवर सिंह सेतु भरौली के पास से धनजी चौधरी निवासी भरौली बलिया, विजय चौधऱी व जितेन्द्र चौधरी निवासी नरवतपुर, बक्सर, बिहार को गिरफ्तार किया। पुलिस ने उनके पास से एक चाकू, एक तमंचा 315 बोर व दो जिन्दा कारतूस 315 बोर बरामद किया।
पूछताछ में गिरफ्तार अभियुक्त विजय ने बताया कि मेरे बड़े भाई जितेन्द्र की शादी ग्राम भरौली में बल्ली चौधरी की पुत्री सवीता चौधरी से हुई थी, भाई की ससुराल होने के कारण मैं अक्सर भरौली आता-जाता था। मेरी शादी मेरे भाई की साली से होनी तय थी। जिससे मृतक विवेक चौधरी टेलिफोन से बात करता था तथा व्हाट्सअप पर मैसेज भेजता था। हम सब ने विवेक चौधरी को ऐसा करने से कई बार मना किया फिर भी वह नही मान रहा था। 
माह जून के अंतिम सप्ताह में मैं भरौली जाकर मृतक विवेक चौधरी के माता-पिता से भी बताये लेकिन विवेक चौधरी नही माना। जिसके बाद 8 जुलाई को हम अपने भाई जितेन्द्र के साथ प्रातः 10.00 बजे भरौली आये। मैं और मेरा साला धनजी चौधरी विवेक को शिवजी चौधरी के खण्डहरनुमा मकान में बात चीत के लिए बुलाये। जितेन्द्र भी दूसरी गली से आ गया, बातचीत के दौरान विवेक चौधरी मानने को तैयार नही हुआ। 
तब मेरा बड़ा भाई जितेन्द्र विवेक का दोनों पैर तथा मेरे भाई का साला धनजी ने दोनों हाथ पकड़ लिया मैंनें कमर में रखे चाकू से विवेक के गले पर प्रहार किया जिससे वह मर गया। चाकू को उसी कमरे में कोने में दो छ्त्ती पर छिपा कर हम लोग धीरे से भाग गये। गिरफ्तारी करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक ज्ञानेश्वर मिश्रा, उ0नि0 दिनेश पाठक, राजकुमार सिंह, संजय सरोज, का0 राहुल प्रसाद, जगजीवन व मुकेश कुमार मौजूद रहे।