ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश कोविड-19/देश-विदेश मनोरंजन/लाइफस्टाइल
बीएचयू के तीन विद्यालयों में अन्य पिछड़ा वर्ग को इसी सत्र से मिलेगा आरक्षण का लाभ, पिछड़ा वर्ग आयोग सदस्य ने लिखा था पत्र
August 17, 2020 • मनोज कुमार • वाराणसी-चंदौली



जनसंदेश न्यूज़
वाराणसी। अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य कौशलेन्द्र पटेल की पहल पर काशी हिन्दू विश्वविद्यालय ने संबंध्द तीन विद्यालयों में इसी सत्र से पिछड़ा वर्ग विद्यार्थियों को आरक्षण का लाभ मिलेगा। बीएचयू के कुलसचिव नीरज त्रिपाठी ने सोमवार को इस आशय की जानकारी आयोग के सदस्य कौशलेन्द्र पटेल को दी। 

आपको बता दें कि अन्य पिछड़ा आयोग सदस्य कौशलेन्द्र पटेल ने बीते दिनों पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों को आरक्षण प्रदान करने के लिए बीएचयू प्रशासन को तलब किया था। जिसके बाद बीएचयू ने सत्र 2020-21 से ही अपने तीन विद्यालयों में पिछड़ा वर्ग अभ्यर्थियों को आरक्षण प्रदान करने की बात कहीं। जिसमें बीएचयू से संबंध्द सेन्ट्रल हिन्दू ब्यायज, सेन्ट्रल हिन्दू गर्ल्स और रणवीर संस्कृत विद्यालय में इसी सत्र से पिछड़ा वर्ग विद्यार्थियों को आरक्षण का लाभ मिलेगा। 

इस संबंध में पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य कौशलेन्द्र पटेल ने बताया कि उन्होंने बीएचयू प्रशासन ने पिछड़े वर्ग के आरक्षण व्यवस्था शुरू करने के संदर्भ में कहा था, बावजूद कोई जवाब आने पर 17 अगस्त को बीएचयू प्रशासन से इस पर अपना पक्ष रखने को कहा था। इसी बीच बीएचयू कुलसचिव नीरज त्रिपाठी ने पिछड़ा वर्ग आयोग को अपना पत्र भेजकर बीएचयू के तीन विद्यालयों में पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए इसी सत्र से आरक्षण व्यवस्था लागू करने की बात कहीं। 

(हंसराज विश्वकर्मा)
भारतीय जनता पार्टी के वाराणसी जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा ने इस कार्य के लिए कौशलेन्द्र पटेल को बधाई देते हुए कहा कि उनकी पहल पर हुआ यह कार्य निश्चित रूप से पूर्वांचल के विद्यार्थियों के उत्थान में योगदान देगा। उन्होंने कहा कि सबका साथ सबका विकास के नारे के साथ कार्य कर रहे प्रधानमंत्री ने आजादी के बाद पहली बार पिछड़ा वर्ग आयोग का गठन कर एक क्रांतिकारी कदम उठाया था, जिसका परिणाम है कि आज पिछड़ा वर्ग के बच्चों को आरक्षण का लाभ मिला है, जो उनके उत्थान में कार्य करेगा। 

(डॉ. प्रदीप कुमार मौर्या)

वहीं भारतीय जनता पार्टी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के चंदौली जिलाध्यक्ष डॉ. प्रदीप कुमार मौर्या ने इस कार्य को पिछड़े वर्ग के लिए क्रांतिकारी कदम बताया और कहा कि इस कार्य से पिछड़ वर्ग के महापुरूषों का सपना साकार हुआ है। उन्होंने इस कार्य के लिए आयोग के सदस्य कौशलेन्द्र पटेल को बधाई दी। और कहा कि शैक्षणिक क्षेत्र में पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों को आरक्षण मिलने से निश्चित रूप से समाज बहुत बड़ा वर्ग लाभान्वित होगा।