ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
बनारस में स्नान के दौरान एक दूसरे को बचाने में एक के बाद एक डूबी छह युवतियां, स्थानीय लोगों ने चार को बचाया
July 30, 2020 • जनसंदेश न्यूज • वाराणसी-चंदौली


जनसंदेश न्यूज़
वाराणसी। चौबेपुर के धौरहरा गांव में गोमती नदी में स्नान करने गई छह युवतियां एक दूसरे को बचाने के चक्कर में नदी में डूब गई। स्थानीय लोगों ने तत्परता दिखाते हुए किसी तरह चार की जान बचा ली, बाकि दो की डूबने से मौत हो गई। सूचना मिलते ही पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची एनडीआरएफ की टीम ने जाल की सहायता से दोनों युवतियों को नदी से बाहर निकाला। 
सूचना के मुताबिक चौबेपुर धौरहरा गांव निवासी शोभा राजभर के पिता बद्री राजभर का नौ दिन पहले निधन हो गया था। गुरुवार को रस्म के मुताबिक पुरुष घाट स्नान कर लौटे तो महिलाएं घाट पर स्नान करने पहुंचीं। इसी बीच स्नान करते समय अंजू (17), सुनीता (15, संजना (14), अन्नू (8) गोमती नदी में डूूबने लगीं तो इनको बचाने गई सपना राजभर (20) वर्ष, भी डूबने लगी तो उसे बचाने के लिए रेखा (35) बचाने पहुंची तो सपना ने उसका हाथ मजबूती से पकड़ लिया। जिससे दोनो डूूब गईं, इन दोनों की तलाश जारी है।
डूबने वालों में धौरहरा निवासी कल्लू राजभर की पत्नी रेखा हैं। जो कि तीन बच्चों की मां है। वहीं दूसरी सपना बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा है। घटना की सूचना मिलने पर चौबेपुर थानाध्यक्ष संजय त्रिपाठी मय फोर्स के साथ मौके पर पहुंचकर स्थानीय गोताखोरों की मदद से शव की तलाश में जुट गये, लेकिन काफी देर तक सफलता नहीं मिली। दूसरी तरफ परिजनों का रो- रोकर बुरा हाल हो गया। काफी प्रयासों के बाद भी डूबी युवतियों की तलाश में सफलता नहीं मिलने पर एनडीआरएफ को बुलाया गया, जहां एनडीआरएफ टीम दोनों युवतियों की तलाश में जुट गई।