ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली मीरजापुर-सोनभद्र-भदोही जौनपुर-गाजीपुर आजमगढ़-मऊ बलिया इलाहाबाद देश-विदेश करोना वायरस मनोरंजन/लाइफस्टाइल
बनारस में डेढ़ माह में शुरु हो जाएगी हैप्पी स्ट्रीट आदि की नयी पहल, पीएम मोदी से मिले निर्देश के बाद प्रशासन सक्रिय
June 28, 2020 • सुरोजीत चैटर्जी • वाराणसी-चंदौली

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने पीएम नरेंद्र मोदी से मिले निर्देशों के बाद की मीटिंग

- दिसंबर 2021 तक किये जाने वाले कार्यों पर किया गया गहन मंथन

- मार्च 2022 तक पूर्ण होने वाले प्रोजेक्ट के लिए भी यही टाइम लाइन

- शहर में पंजीकृत किये जा रहे 45 सौ वेंडर्स कई तरह होंगे लाभांवित

- खेती के लिए क्लस्टर विकसित करने को बनाएंगे नयी कार्य योजना

- बड़ी परियोजाओं से जुड़े विभागों को सौंपा डॉक्यूमेंटेशन का दायित्व

- पूर्व और वर्तमान काशी की तरक्की का ब्योरा बनाकर होगा मूल्यांकन

सुरोजीत चैटर्जी

जनसंदेश न्यूज

वाराणसी। दिसंबर 2021 तक पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र की शक्ल बदलने की कवायद शुरु हो चुकी है। जिसके तहत वर्तमान में निर्माणाधीन परियोजनाओं को इसी टाइम लाइन में पूर्ण करने के अलावा कई ऐसी पहल होगी जिससे इस शहर की सूरत काफी हद तक अलग दिखेगी। इस दिशा में आगामी डेढ़ माह में परिवर्तन दिखना आरंभ हो जाएगा। जिससे न सिर्फ जनपद के तमाम वर्ग के लोग लाभांवित होंगे बल्कि पर्यटकों के लिए भी जिले की और भी बेहतर तस्वीर उभर कर आएगी।

बीते 19 जून को जनपद के सांसद एवं प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये वाराणसी के विकास कार्यों की समीक्षा बैठक करते हुए परियोजनाओं को अगामी वर्ष दिसंबर तक पूर्ण करा लेने के निर्देश दिये थे। उसी क्रम में कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने पहली तैयारी बैठक कर यहां अफसरों को आवश्यक निर्देश दिये। मंडलायुक्त अनुश्रवण कक्ष में बीते यह मीटिंग बुलायी गयी थी। इस मौके पर श्री अग्रवाल ने वर्तमान में संचालित प्रमुख परियोजनाओं के प्रगति की जानकारी ली।

उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश दिया कि ऐसे बड़े प्रोजेक्ट जिनको पूर्ण कर लेने की अवधि मार्च 2022 तक की रखी गयी है, उसकी पुन: रिप्लांनिग कर प्रत्येक चालू प्रोजेक्ट हर हाल में दिसंबर 2021 तक पूरा कर लेने की कार्यवाही आरंभ करें। उन्होंने कहा कि विभिन्न महकमे, खासकर पर्यटन विभाग ने अपनी जिन योजनाओं के तहत शहर में स्ट्रीट लाइटों लगाने का प्रावधान किया है, उन लाइटों का मेंटेनेंस नगर निगम से तालमेल कर जारी रखना होगा।

श्री इग्रवाल ने बताया कि नगर व ग्रामीण क्षेत्र की सभी स्ट्रीट लाइटें एलईडी हो गई हैं। कमिश्नर ने सभी कार्यदाई संस्थाओं और संबंधित विभागों के अधिकारियों को बड़े तथा प्रमुख परियोजनाओं का डॉक्यूमेंटेशन, वीडियोग्राफी, एवं फोटोग्राफी के जरिये कराने की जिम्मेदारी सौंपी। उस डॉक्यूमेंटेशन में जिसमे प्रोजेक्ट से पहले और बाद में कराए गये विकास कार्य शामिल करेंगे। ताकि बनारस के बारे में इस प्रकार का डिजिटल संकलन देश-विदेश में दिखाना संभव होगा।

(बीते 26 जून को के अंक में ‘जनसंदेश टाइम्स’ ने मोदी की ओर से जिले के लिए खींचे गये नये खाका के बारे में बता दिया था)

इस प्रकार लोग इस शहर की चरणबद्ध तरक्की के बारे में जानकारी हासिल कर सकेंगे। श्री अग्रवाल ने कृषि विभाग के अधिकारी को केमिकल रहित उर्वरक, पेस्टीसाइड के प्रयोग समेत कंपोस्ट और आॅर्गेनिक इनपुट से खेती के कलस्टर विकसित कराने के निर्देश दिये। बैठक में उन्होंने पशुओं के शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने को कहा। साथ ही बताया कि वाराणसी में मत्स्य पालन की अत्यधिक संभावनाएं हैं। यह आमदनी का अच्छा का साधन है।

सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाकर मत्स्य उत्पादन बढ़ाया जाय। मंडलायुक्त ने बताया कि शहरी इलाके में हैप्पी स्ट्रीट, गौरव पथ, वेंडरों के लिए निर्धारित स्थान, एफसीआई अप्रूव्ड फूड कोर्ट, वेंडरों से कैशलेस लेनदेन होंगे। मीटिंग के दौरान इस बारे में कार्ययोजना पर मंथन किया गया। साथ ही उम्मीद जतायी गयी कि इसके रिजल्ट एक से डेढ़ माह में शहर में दिखने लगेंगे।

इसके लिए प्रथम चरण में दुर्गाकुंड, लंका, अस्सी, कबीरचौरा, सारनाथ, सिगरा, रवींद्रपुरी आदि क्षेत्रों को लिया गया है। नगर में करीब 45 सौ वेंडरों की रजिस्ट्रेशन जारी है। उनके कई बिंदुओं पर ट्रेनिंग दी जाएगी। वेंडरों के स्टॉल आदि एक समान होंगे। उनके लिए बैंकों से लोन मुहैया कराएंगे। कमिश्नर ने बताया कि शहर में आठ सीएनजी स्टेशन क्रियांवित हैं। इस तरह की पहल से जनपद में प्रदूषण में कितनी कमी आयी है, उसका तुलनात्मक अध्ययन किया जाएगा।

बीते शनिवार को हुई इस मीटिंग में डीएम कौशल राज शर्मा, नगर आयुक्त गौरांग राठी, आईएएस प्रशिक्षु विक्रमादित्य सिंह मलिक भी थे। ‘जनसंदेश टाइम्स’ ने बीते 26 जून के अपने अंक में बता दिया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र के विकास कार्यों की समीक्षा बैठक कर कई नये कार्य कराने के निर्देश देते हुए विभिन्न निर्माणाधीन परियोजनाओं को हर हाल में दिसंबर 2021 तक पूर्ण कराने लेने को कहा है।

होने वाले संभावित नये कार्य

- एक निकाय-एक गौरव पथ, कन्वेंशन सेंटर रुद्राक्ष को सोलर एनर्जी से 20 अगस्त तक पूर्ण करना, प्रत्येक घर और स्ट्रीट लाइट्स में एलईडी बल्ब, कैशलेस स्ट्रीट वेंडिंग इन काशी, खानपान की खास गली, बच्चों के लिए हैप्पी स्ट्रीट, विरासत का व्यापक स्तर पर प्रमोशन, निर्माणाधीन परियोजनाएं में आ रही बाधाएं दूर करना, गोबर व कंपोस्ट खाद के प्रयोग को प्रोत्साहन, जीरो बजट फार्मिंग, सारनाथ में बौद्ध देशों के उत्सव, रामनगर बंदरगाह पर कार्य व्यापार में बढ़ोतरी, बंदरगाह के निकट पैकेजिंग इंस्टीट्यूट और ट्रेनिंग सेंटर, गंगा तक पर टेंट सिटी वगैरह।