ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
बनारस में अपने ही सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे भाजपा कार्यकर्ता, ओवरब्रिज के पास किया चक्काजाम
June 29, 2020 • वीरेंद्र पांडेय • वाराणसी-चंदौली


सड़क बनाने के लिए आशापुर में निर्माणाधीन ओवरब्रिज के पास किया चक्काजाम

मौके पर जिलाधिकारी को बुलाने की मांग करते हुए प्रशासन के खिलाफ लगाये नारें

एसएम चतुर्थ से टेलीफोनिक वार्ता में मिले आश्वासन के बाद आंदोलन को किया समाप्त

जनसंदेश न्यूज़
सारनाथ। आशापुर, तिलमापुर, हीरामनपुर व लेढ़ूपुर की खस्ताहाल सड़कों को बनवाने के लिए भाजपा कार्यकर्ता अपनी ही सरकार के खिलाफ सोमवार को धरने पर बैठ गये। इसमें बड़ी संख्या में इलाकाई नागरिक भी शामिल थे। इस दौरान आशापुर में निर्माणाधीन ओवरब्रिज के पास चक्काजाम भी कर दिया गया। चक्काजाम होते ही आशापुर-गाजीपुर मार्ग पर दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई। इस दौरान आंदोलनकारियों ने मौके पर जिलाधिकारी को बुलाने की मांग करते हुए प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।
चक्काजाम करने वालों का कहना था कि आशापुर से लेकर गांधी आश्रम तक ही नहीं, तिलमापुर, हीरामनपुर और लेढ़ूपुर तक की सड़क इस कदर खराब हो गयी है कि उस पर पैदल चलना भी दुश्वार हो गया है। कई बार शासन-प्रशासन को लिखित रूप से पत्रक देने के बाद भी सड़क मरम्मत कार्य प्रारंभ नहीं हुआ तो आंदोलन का सहारा लेना पड़ा। आंदोलनकारियों ने कहा कि सड़कों पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गये हैं, जिससे आना-जाना दूभर हो गया है। शासन और प्रशासन से हम लोगों की मांग है कि जल्द से जल्द सड़क का निर्माण कार्य शुरू करवाया जाएं अन्यथा हम रोजाना ऐसे ही धरना-प्रदर्शन करते रहेंगे। आंदोलनकारियों ने मौके पर जिलाधिकारी को बुलाने के मांग को लेकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की। चक्का जाम के वजह से पहड़िया से लेकर आशापुर और गाजीपुर मार्ग पर वाहनों की लंबी कतार लग गयी थी। 
सूचना पर पहुंचे थाना प्रभारी विजय बहादुर सिंह ने चक्का जाम का नेतृत्व कर रहे आशापुर के पूर्व प्रधान नागेश्वर मिश्र से एसीएम चतुर्थ से फोन से बात करवायी। एसीएम चतुर्थ ने कहा कि आप अपने प्रतिनिधिमंडल के साथ आकर हमसे मिले, समस्या का समाधान किया जाएगा। इस आश्वासन पर चक्का जाम खत्म हुआ कि यदि 10 दिन के अंदर सड़क पूरी तरह से नहीं बनती है तो दोबारा इससे बड़ा आंदोलन किया जाएगा। चक्काजाम करीब डेढ़ घंटे तक चला। आंदोलन में आशापुर के प्रधान पति संतोष पांडेय, अखिलेश पांडेय, राजू शर्मा, विष्णु मोदनवाल, देव पांडेय, राजशेखर राज, मुरारी पांडेय, प्रदीप पांडेय, पवन पांडेय, प्रभु राजभर, मनोज पांडेय, शनि राजभर, नितिन मिश्र सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता व क्षेत्रीय लोग शामिल थे।