ALL जनसंदेश एक्सक्लूसिव वाराणसी-चंदौली पूूर्वांचल इलाहाबाद लखनऊ कानपुर-गोरखपुर आगरा देश-विदेश सृजन मनोरंजन/लाइफस्टाइल
बनारस के पांच गांवों के मुआयने पर 15 को आएगी नीति आयोग की टीम, सीईओ अमिताभ कांत भी होंगे साथ
September 7, 2020 • सुरोजीत चैटर्जी • वाराणसी-चंदौली

मुख्य कार्यकारी अधिकारी के सामने पेश करेंगे सभी क्लस्टर के दो-दो गांवों की लिस्ट

आयोग के सीईओ अमिताभ कांत के साथ होंगे केंद्र व राज्य सरकार के आला अफसर

जनपद के अधिकारियों ने कसी कमर, सीडीओ ने की बैठक, दो गांवों का लिया जायजा

विकास खंड के इसरवार ग्राम पंचायत में प्राथमिक स्कूल के प्रधानाचार्य का वेतन रोका

सुरोजीत चैटर्जी
वाराणसी। नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत 15 सितंबर को एकदिनी दौरे पर वाराणसी आएंगे। वह मॉडल ब्लॉक के तौर पर विकसित किये जा रहे सेवापुरी विकास खंड के विभिन्न ग्राम पंचायतों में चल रहे कार्यों की प्रगति का जायजा लेंगे। उम्मीद जतायी जा रही है कि इस बार उनका मुआयना व्यापक स्तर पर होगा। उनके आगमन को देखते हुए जिला प्रशासन और विकास विभाग के आला अफसरों ने सेवापुरी ब्लॉक के गांवों में अपनी ताकत झोंक दी है। इसी क्रम में सोमवार को श्री हुल्गी ने तैयारी बैठक बैठक की और विकास खंड के कुछ गांवों का मुआयना किया।

मुख्य विकास अधिकारी बैठक के दौरान ब्लॉक में तैनात किये गये नोडल संग बैठक कर उन्हें ग्राम पंचायतों में कराए जा रहे सबसे अच्छे पांच कार्यों की फोटो उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। सिरीहरा ग्राम पंचायत के प्राथमिक विद्यालय के परिसर स्थित खादी ग्रामोद्योग के जर्जर भवन को ध्वस्त कराने को कहा। दूसरी ओर, उन्होंने विकास खंड इसरवार, मझियार का स्थलीय जायजा लिया।

प्राथमिक विद्यालय इसरवार में गत वर्षों के कंपोजिट ग्रांट का सदुपयोग न करने, चार कक्षाओं में टाइल्स न लगवाने पर रोष व्यक्त किया। साथ ही संबंधित कार्य पूर्ण होने तक प्रधानाचार्य सुशील कुमार सिंह का वेतन रोक दिया। दोनों गांवों के मुआयने में सीडीओ ने कई आवश्यक निर्देश दिये। इधर, जानकारी के मुताबिक आगामी 15 सितंबर को आ रहे नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत के साथ भारत सरकार और राज्य सरकार के विभिन्न विभागों के तमाम अफसर शामिल रहेंगे।

बीते दौरे में सीईओ ने सेवापुरी विकास खंड के बेसहूपुर का दौरा किया था लेकिन इस बार संभावना जतायी जा रही है कि वह पांच गांवों का मुआयना करेंगे। इसके लिए उनके साथ कई महकमों के आला अफसरों की पांच टीमें भी होंगी। उनके दौरे को देखते हुए सेवापुरी ब्लॉक के सभी क्लस्टर इंचार्ज को दो-दो गांवों को दुरुस्त कराने के निर्देश दिये गये हैं। ताकि यदि नीति आयोग की टीम खुद गांवों का चयन करे तो उनके सामने पहले से सूचिबद्ध किये जा रहे गांवों की लिस्ट पेश की जा सके। हालांकि उनके आगमन के बाद ही इस बारे में खुलासा होगा।

रैंकिंग में अमीनी समेत पांच ग्रापं अव्वल

मॉडल ब्लॉक के तौर पर विकसित किये जा रहे सेवापुरी विकास खंड में कार्यों की गुणवत्ता बेहतर बनाने के लिए प्रतियोगितात्मक स्तर पर मुहिम चल रही है। प्रत्येक पखवाड़े सबसे अच्छे कार्यों के लिए संबंधित गांवों की रैंकिंग प्रक्रिया आरंभ की गयी है। जिसके तहत पहली बार हुई रैंकिंग को घोषणा हुई है। जिसमें ग्राम पंचायत ठठरा, तेंदुई, भोरकला, बखरी और अमीनी अव्वल रहे। वहीं, ग्राम पंचायत जगपती ने डेल्टा प्रगति में सर्वाधिक कार्य किया है। बीते 15 अगस्त को इस कंपटीशन का एलान डीएम कौशल राज शर्मा ने किया था और 28 अगस्त तक कराए गये कार्यों के आधार पर यह रैंकिंग की गयी है।